40 सालों में तीन फीसदी घटी देश में हिंदुओं की आबादी

balram singh

Publish: Mar, 14 2017 11:24:00 (IST)

National News
40 सालों में तीन फीसदी घटी देश में हिंदुओं की आबादी

लोकसभा में गृहमंत्रालय ने एक लिखित सवाल के जवाब में बताया कि देश में वर्ष 1971 से लेकर 2011 तक चार दशकों में देश में हिंदुओं की आबादी दोगुनी से भी अधिक होकर 96 करोड़ 62 लाख से ज्यादा हो गई है लेकिन कुल जनसंख्या में उनकी भागीदारी तकरीबन तीन फीसदी कम हुई है।



गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने लोकसभा में जानकारी देते हुए कहा कि हिंदुओं की आबादी 1971 में 45.33 करोड़ थी, जो 2011 में बढ़कर 96.22 करोड़ हो गई। इस तरह से देखा जाए तो हिंदुओं की आबादी 4 दशकों में दोगुनी से भी अधिक हुई है, हालांकि इस दौरान देश की कुल आबादी में उसकी हिस्सेदारी घटी है। 



सबसे खास बता ये है कि 1971 की जनगणना में सिक्किम और 1981 में असम की आबादी कुल आबादी में शामिल नहीं थी। इसी तरह 1991 में मणिपुर के कुछ इलाकों की आबादी जनगणना न हो पाने के चलते कुल आबादी में शामिल नहीं थी।



महापंजीयक और जनगणना आयुक्त द्वारा जारी 2011 के धार्मिक जनगणना डाटा के अनुसार देश में 2011 में कुल जनसंख्या 121.09 करोड़ थी। इसमें हिंदू जनसंख्या 96.63 करोड़ (79.8 फीसद), मुसलिम आबादी 17.22 करोड़ (14.2 फीसद), ईसाई 2.78 करोड़ (2.3 फीसद), सिख 2.08 करोड़ (1.7 फीसद), बौद्ध 0.84 करोड़ (0.7 फीसद), जैन 0.45 करोड़ (0.4 फीसद) और अन्य धर्म और मत (ओआरपी) 0.79 करोड़ (0.7 फीसद) रही।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned