किसानों और अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी खबर, मानसून इस साल भी रहेगा सामान्य, अन-नीनो का खतरा हुआ कम

National News
किसानों और अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी खबर, मानसून इस साल भी रहेगा सामान्य, अन-नीनो का खतरा हुआ कम

किसानों और अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी खबर है। पिछले साल की ही तरह इस साल भी मानसून सामान्य रहेगा। मौसम विभाग ने पहले पूर्वानुमान में यह भविष्यवाणी की है।

किसानों और अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी खबर है। पिछले साल की ही तरह इस साल भी मानसून सामान्य रहेगा। मौसम विभाग ने पहले पूर्वानुमान में यह भविष्यवाणी की है। विभाग के महानिदेशक केजी रमेश ने पूर्वानुमान जारी करते हुए कहा कि इस बार मानसून में दीर्घावधि औसत (एलपीए) की 96 फीसदी बारिश होगी। इसमें 5 फीसदी का मार्जिन ऑफ एरर शामिल है।



विभाग ने कहा है कि अन-नीनो का खतरा कम हुआ है लेकिन, मानसून सीजन के दूसरे हिस्से में इसका असर रह सकता है। अगस्त-अक्टूबर में अल-नीनो की संभावना 50 फीसदी है। भारत में औसत बारिश वर्ष 1951 से वर्ष 2000 के बीच हुई बारिश का औसत है, जो कि 89 सेंटीमीटर है। एलपीए की 96 से 104 फीसदी तक बारिश सामान्य बारिश मानी जाती है। 



मोदी की महत्वाकांक्षी सॉयल हैल्थ कॉर्ड योजना राजस्थान के किसानों के साथ धोखा!



96 फीसदी से नीचे सामान्य से कम और 104 फीसदी से अधिक बारिश सामान्य से अधिक की श्रेणी में आती है। इस बात की 38 फीसदी संभावना है कि बारिश 96 फीसदी से भी अधिक हो।  मालूम हो, पिछले साल मौसम विभाग ने सामान्य से अधिक बारिश का अनुमान जताया था, लेकिन मानसून खत्म होते-होते सामान्य बारिश ही दर्ज की गई थी।



माल्या का इन 2 औरतों पर आया था दिल, महंगे शौक के चक्कर में यूं डूबी लुटिया



अगला पूर्वानुमान जून में जारी होगा

मौसम विभाग मानसून से जुड़ा अपना अगला पूर्वानुमान जून में जारी करेगा। इसमें क्षेत्रवार वर्षा से जुड़े आंकड़े भी जारी किए जाएंगे। इसके अलावा, मई के दूसरे सप्ताह में विभाग भारत में मानसून के आगमन की परिस्थितियों के बारे में भी आंकड़े जारी करेगा। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned