बड़ा खुलासा: देश के 8 राज्यों में एक भी रजिस्टर्ड बूचड़खाना नहीं, तो वहीं...

Punit Kumar

Publish: Apr, 17 2017 03:28:00 (IST)

National News
बड़ा खुलासा: देश के 8 राज्यों में एक भी रजिस्टर्ड बूचड़खाना नहीं, तो वहीं...

देश में सबसे अधिक अवैध बूचड़खाने तमिलनाडु, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र में हैं। साथ ही देश के इन तीन राज्यों में 55 फीसदी पंजीकृत बूचड़खाने चलाए जा रहे हैं।

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ सरकार के अवैध बूचड़खानों पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद उनका फैसला खूब विवादों में रहा। तो वहीं उनके इस फैसले से कई राजनीतिक दलों ने हमले भी किए। साथ ही उनका कदम मुस्लिम विरोधी भी करार दिया गया। सीएम योगी के इस फैसले के बाद अन्य राज्यों ने इस दिशा में कदम उठाना शुरु कर दिया। अब ताजा मामला आरटीआई के जरिए मिली जानकारी से मिली है। 



हाल ही में मिली आरटीआई जानकारी के मुताबिक, देश के आठ बड़े राज्यों में एक भी बूचड़खाना पंजीकृत नहीं है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, केवल 1,707 बूचड़खाने खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 के तहत रजिस्टर्ड हैं, इनके अलावा बाकी सभी बूचड़खाने अवैध तरीके से चलाए जा रहे हैं। यह जानकारी फूड लायसेंसिंग एंड रजिस्ट्रेशन सिस्टम के जरिए यह बात सामने आई है। 



तो वहीं मिली जानकारी के अनुसार, देश में सबसे अधिक अवैध बूचड़खाने तमिलनाडु, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र में हैं। साथ ही  देश के इन तीन राज्यों में 55 फीसदी पंजीकृत बूचड़खाने चलाए जा रहे हैं।जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश में केवल 58 बूचड़खाने पंजीकृत हैं। तो इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद पहले की सरकारों की लापरवाही इस मामले दिख रही है।  



गौरतलब है कि सीएम योगी के कठोर फैसले के बाद पूरे राज्य में अनेकों अवैध बूचड़खानों पर ताला लगा दिया गया। जिसके बाद राज्य के मांस विक्रेताओं ने सरकार के खिलाफ अपना विरोध भी जताया। तो वहीं इसके बाद सभी मांस विक्रेताओं के संगठन ने योगी से मिल इस मामले में समाधान की गुहार लगाई। 



जिसके बाद सरकार ने इस मामले में कहा कि मांस विक्रेता लाइसेंस लेने के बाद राज्य में मांस का व्यपार करने के लिए स्वतंत्र हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned