यहां फिर 'देवदूत' बने Indian Army के जवान, बर्फीले तूफान में फंसे सैंकड़ों सैलानियों की बचाई जान

National News
यहां फिर 'देवदूत' बने Indian Army के जवान, बर्फीले तूफान में फंसे सैंकड़ों सैलानियों की बचाई जान

ब्लेजिंग सोर्ड डिवीजन के जवानों ने तवांग जिले के नजदीक फंसे 127 पर्यटकों को सुरक्षित निकाल लिया। अभियान शनिवार की रात शुरू किया गया, जो रविवार की सुबह तक चला।

भारतीय सेना ने अरुणाचल प्रदेश के तवांग में सेला दर्रे के पास फंसे 127 पर्यटकों सुरक्षित निकाल लिया। आधिकारिक सूत्रों ने रविवार को यह जानकारी दी।



रक्षा प्रवक्ता (कोलकाता) विंग कमांडर एस. एस. बिरडी ने बताया, ''ब्लेजिंग सोर्ड डिवीजन के जवानों ने तवांग जिले के नजदीक फंसे 127 पर्यटकों को सुरक्षित निकाल लिया।''






रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि बचाव अभियान शनिवार की रात शुरू किया गया, जो रविवार की सुबह तक चला। बचाए गए पर्यटकों में जापान, न्यूजीलैंड और बुल्गारिया के पांच विदेशी नागरिक भी शामिल हैं।



बिर्डी ने बताया कि अरुणाचल प्रदेश के पश्चिमी कामेंग जिले में अहिरगढ़, सेला और नौरानांग के बीच शनिवार को अपराह्न 2.45 बजे के करीब आए भीषड़ बर्फीले तूफान के कारण पर्यटक तेजपुर-तवांग मार्ग पर फंस गए थे।



खाई में गिर गए बुल्गारिया के एक नागरिक का शव मध्यरात्रि के करीब निकाल लिया गया। सुरक्षित बचा लिए गए पर्यटकों को सैन्य शिविर पहुंचाया गया और प्राथमिक चिकित्सा प्रदान की गई।



सड़क पर दो से तीन फुट तक बर्फ जम गई थी, जिसे बॉर्डर रोड्स ऑर्गेनाइजेशन ने रविवार के परिवहन के लिए साफ कर दिया और फंसे पर्यटकों के सभी वाहन बरामद कर लिए गए।



बिरडी ने बताया कि बचाए गए पर्यटकों में अधिकतर अपने-अपने गंतव्यों की ओर रवाना भी हो चुके हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned