जामा मस्जिद के इमाम ने पाक PM को लिखी चिट्ठी, कहा- अलगाववादियों से बात कर कश्मीर में शांति बनाएं

National News
जामा मस्जिद के इमाम ने पाक PM को लिखी चिट्ठी, कहा- अलगाववादियों से बात कर कश्मीर में शांति बनाएं

दिल्ली की जामा मस्जिद के इमाम सैयद अहमद बुखारी ने जम्मू कश्मीर में जारी तनाव को खत्म करने के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को पत्र लिखा है।

दिल्ली की जामा मस्जिद के इमाम सैयद अहमद बुखारी ने जम्मू कश्मीर में जारी तनाव को खत्म करने के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को पत्र लिखा है। बुखारी ने पत्र में नवाज शरीफ को लिखा है कि वे घाटी के अलगाववादियों से बातचीत कर कश्मीर में तनाव को कम करने में अपनी भूमिका निभाएं। साथ ही उन्होंने कहा है कि शांति स्थापित करने के लिए माहौल बनाने में देरी हुर्इ तो कश्मीर का ये मामला आैर भी ज्यादा मुश्किल हो जाएगा।



बुखारी ने नवाज शरीफ को लिखे पत्र में कहा है कि कश्मीर के हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। रोजाना भारत आैर पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ता ही जा रहा है। यदि अमन कायम करने के लिए माहौल बनाने में देरी होगी तो कश्मीर का ये मुद्दा आैर भी मुश्किल हो जाएगा। साथ ही उन्होंने लिखा है कि शांति के लिए हरसंभव प्रयास करने होंगे। कश्मीर के लोग डर के साए में जी रहे हैं आैर खुद को असहाय महसूस कर रहे हैं। उनका शांति का सपना टूट गया है।



इमाम बुखारी ने कश्मीर में हथियार उठाने वालों से अपील करते हुए कहा है कि उन्हें हथियार छोड़ देने चाहिए। हिंसा किसी भी समस्या का समाधान नहीं है। नवाज शरीफ से अपील करते हुए बुखारी ने कहा है कि इस मामले में भारतीय मुसलमान हर संभव कोशिश कर रहे हैं। पाकिस्तान के प्रधाानमंत्री सीमा पर तनाव कम करने में अहम भूमिका निभा सकते हैं।



साथ ही बुखारी ने केन्द्र सरकार के गृह मंत्रालय को भी एक पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने शांति स्थापित करने के लिए जरूरी कदम उठाने की अपील की है। इसमें बुखारी ने लिखा है कि कश्मीर में स्थिति हिंसक होती जा रही है। शांतिप्रिय माहौल बनाने में जितना वक्त लगेगा कश्मीर समस्या का समाधान उतना ही जटिल होता जाएगा।




हम आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर में पाकिस्तान की आेर से सीजफायर का उल्लंघन आैर आतंकी घुसपैठ की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं। एेसे में कश्मीर में भारतीय सेना आतंकवादियों के खिलाफ लगातार अभियान चला रही है। उधर, भारत सरकार पहले ही साफ कर चुकी है कि हुर्रियत कांफ्रेंस से बातचीत नहीं की जाएगी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned