तीन तलाक देने पर दो लाख का जुर्माना, पंचायत ने सुनाया फैसला

santosh trivedi

Publish: Jun, 13 2017 09:23:00 (IST)

National News
तीन तलाक देने पर दो लाख का जुर्माना, पंचायत ने सुनाया फैसला

उत्तर प्रदेश के सम्भल जिले में मुसलमानों की तुर्क बिरादरी की पंचायत ने तीन तलाक देने वाले एक शख्स को सबक सिखाया है।

उत्तर प्रदेश के सम्भल जिले में मुसलमानों की तुर्क बिरादरी की पंचायत ने तीन तलाक देने वाले एक शख्स को सबक सिखाया है। एक ही बार में तीन तलाक कहने वाले व्यक्ति को फटकार लगाते हुए उस पर दो लाख रुपए का जुर्माना लगाया है। पंचायत की अध्यक्षता करने वाले शाहिद हुसैन ने बताया कि पति-पत्नी के रिश्तों में तल्खी आने के बाद 10 दिन पहले उसने तीन तलाक बोल दिया।



हुसैन के अनुसार सदिरनपुर गांव निवासी 22 वर्षीय एक युवती का निकाह मूसापुर गांव के 45 साल के एक व्यक्ति से 1 साल पहले हुआ था। निकाह के बाद से ही पति-पत्नी के रिश्तों में तल्खी रहने लगी थी। करीब 10 दिन पहले दोनों की आपस में कहा-सुनी हुई जिसके बाद पति ने गुस्से में तीन बार तलाक कह दिया।



उन्होंने बताया कि इस मामले को लेकर तुर्क बिरादरी की पंचायत सोमवार को सम्भल के रायसती स्थित मदरसा खलील उल उलूम में हुई। इसमें 52 गांव के तुर्क बिरादरी के लोग शामिल हुए थे। पंचायत में सभी के बीच चर्चा हुई, जिसमें पंचायत ने एक साथ तीन तलाक देने को गंभीर मामला माना। तीन तलाक देने वाले व्यक्ति पर सर्वसम्मति से 2 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया। उस व्यक्ति ने पंचायत की बात मानते हुए मौके पर ही जुर्माने की रकम अदा कर दी।



तीन तलाक कहने पर लगा रखी है रोक

हुसैन ने बताया कि पंचायत ने मेहर के तौर पर 60 हजार और दहेज में दिया गया सोफा, बेड, मोटरसाइकिल, बर्तन इत्यादि सारा सामान लड़की पक्ष को वापस दिलाया। मालूम हो कि तुर्क बिरादरी ने एक साथ तीन तलाक कहने पर अपने समाज में पहले ही रोक लगा रखी थी। उसके बाद आए तीन तलाक के इस पहले मामले में पंचायत ने बड़ा जुर्माना लगा कर समाज को कड़ा संदेश दिया है। बता दें कि तुर्क बिरादरी के लोगों ने अपने समाज में दहेज प्रथा, शादियों में फिजूलखर्ची, शादियों में डीजे या डांस पार्टी बुलाने पर पाबंदी लगा रखी है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned