आनंदपाल के अंतिम संस्कार के बाद अब छिड़ा फेसबुक वार, कोई दे रहा श्रद्धांजलि तो कोई पुलिस को चुनौती

Jaipur, Rajasthan, India
आनंदपाल के अंतिम संस्कार के बाद अब छिड़ा फेसबुक वार, कोई दे रहा श्रद्धांजलि तो कोई पुलिस को चुनौती

आखिरकार आनंदपाल के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। लेकिन पुलिस की परेशानी अभी भी खत्म नहीं हुई है। सांवराद और नागौर में अभी भी तनाव जारी है।

लंबी बहस, विवाद, सभाओं, उपद्रव के बाद आखिरकार आनंदपाल के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। लेकिन पुलिस की परेशानी अभी भी खत्म नहीं हुई है। सांवराद और नागौर में अभी भी तनाव जारी है। उधर, आनंदपाल के एनकाउंटर और उसके अंतिम संस्कार के बाद अब सोशल मीडिया पर सरकार और पुलिस के खिलाफ फेसबुक वार छिड़ गई है। वाट्सएप ग्रुप्स पर भी लोगों ने सरकार और पुलिस को चुनौती दी है।



फेसबुक पर लगातार अपडेट होते थे पेज

पांच लाख रुपए का ईनामी गैंगस्टर आनदंपाल सिंह जब जिंदा था तक फेसबुक पर एक दर्जन से भी ज्यादा पेज उसके नाम से बने हुए थे। इनमें अधिकतर पर उसकी फोटोज लगे हैं। इनमें यूथ बिग्रेड, आनंदपाल सिंह, आनंदपाल सिंह डीडवाना और अन्य पेज शामिल हैं। इनमें लगातार पुलिस की खिंचाई की गई और आनंदपाल सिंह को हीरो के जैसे दिखाया। पुलिस ने इन पेजों को चलाने वाले तीन लोगों को भी गिरफ्तार किया था। लेकिन जब आनंदपाल का एनकाउंटर हुआ तो उसके बाद ये पेज अपडेट होना बंद हो गए।



एनकाउंटर के बाद बन गए छह नए एफबी पेज

आनंदपाल सिंह के एनकांउटर और अंतिम संस्कार के बाद भी पुलिस की खिंचाई जारी है। अब फेसबुक पर करीब छह से ज्यादा पेज और अकाउंट खोले गए हैं। एक पेज 'एक था आनंदपाल' के नाम से बना हुआ है। एक पेज उसे श्रद्धांजलि देने के लिए बनाया गया है। उस पर लिखा गया है, 'आरआईपी'। एक अन्य पेज पर सीबीआई जांच की मांग की गई है। एक पेज 'जस्टिस फॉर आनंदपाल' के नाम से भी बनाया गया है। इन पेजों सैकड़ों लोग जुड़े हुए हैं। इन लोगों ने सैकड़ों की संख्या में पोस्ट भी हैं। 



फेसबुक के एक पेज पर तो पुलिस को चुनौती देते हुए लिखा गया है कि 'एक को काटोगे तो सौ पैदा होंगे। पहले भी हुए हैं और आगे भी होंगे।' वाट्सएप ग्रुप्स पर भी समाज के लोगों का गुस्सा निकल रहा है। आनंदपाल के अंतिम संस्कार के बाद सैकड़ों लोगों ने पुलिस और सरकार के फोटोज लगाकर ग्रुप्स बनाए हैं, अपनी डीपी भी बदली है और इनके ऊपर ब्लैक क्रॉस लगाया है। समाज से जुड़े लोगों ने अधिकतर इसी तरह से अपना गुस्सा जाहिर किया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned