पत्नी बडी या कार, दहेज में नहीं मिली कार तो 21 दिन बाद दुल्हन को शिक्षक ने घर से निकाला

Jaipur, Rajasthan, India
पत्नी बडी या कार, दहेज में नहीं मिली कार तो 21 दिन बाद दुल्हन को शिक्षक ने घर से निकाला

दहेज की मांग पीहर बैठी एक युवती वैशाली नगर स्थित आर्मी एरिया के विजयद्वार पर इंसाफ की मांग को लेकर डेढ़ घंटे तक धूप में खड़ी रहीं।

वैशाली नगर स्थित आर्मी एरिया के विजयद्वार के बाहर शुक्रवार दोपहर एक युवती हाथ में 'I Want Justice' के स्लोगन लेकर न्याय की गुहार लगा रही थी। विजयद्वार के बाहर ऐसा देखकर हर कोई अचरज रह गया। वह लगभग डेढ घंटे तक वहां धूप में खडी रही। इसके बाद पुलिस उसे थाने ले गई।



गैंगस्टर आनंदपाल सिंह को लेकर अब पुलिस के सामने तीसरी बड़ी चुनौती



जम्मू स्थित कठुआ के पास लच्छीपुर गांव में रहने वाली  पूनम और उसके भाई विरेंद्र चौधरी ने बताया कि उसकी शादी जम्मू स्थित कठुआ में रहने वाले धीरज चौधरी से 5 फरवरी को हुई थीं। धीरज आर्मी में बतौर टीचर तैनात है। ये आर्मी एजुकेशन विंग में है। शादी के 21 दिन बाद धीरज ने उसे दहेज में कार नहीं आने पर घर से निकाल दिया और पैसे लाकर देने की बात कहीं। बाद में पूनम के पिता ने कठुआ में वुमन सैल में इसकी शिकायत की तो वहां भी धीरज नहीं पहुंचा। धीरज के परिवार ने भी पूनम को अपनाने से मनाही कर दिया। 




यहां अंध शिक्षक के भरोसे संचालित होती है पूरी स्कूल




तब जाकर शुक्रवार को सुबह दोनों भाई—बहन वैशाली नगर स्थित विजयद्वार से आर्मी एरिया में जाकर धीरज और उसके अधिकारियों से मिले तो धीरज ने उसे रखने को साफ इंकार कर दिया। जबकि आर्मी अधिकारियों ने ये कहते हुए टालमटोल कर दिया कि पूनम का बतौर वाइफ धीरज के किसी भी डॉक्यूमेंट में नहीं है। ऐसे में हम कैसे मान सकते है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned