GST आने से भारत की अप्रत्यक्ष कर प्रणाली अत्यन्त सरल और सुगम हो जाएगी: जयपुर में बोले एक्सपर्ट्स

vijay ram

Publish: Jun, 14 2017 06:18:00 (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
GST आने से भारत की अप्रत्यक्ष कर प्रणाली अत्यन्त सरल और सुगम हो जाएगी: जयपुर में बोले एक्सपर्ट्स

आपको बता दें, जीएसटी एक गन्तव्य आधारित (डेस्टीनेशन बेस्ड) कर है, जो वस्तु एवं सेवाओं की पूर्ती पर लागू होगा। यह एक देश, एक कर तथा एक बाजार की अवधारणा पर आधारित है।

एमएसएमई भारत सरकार और आर्च एकेडमी ऑफ डिजाइन की ओर से राजधानी के मालवीय नगर स्थित एकेडमी में जीएसटी पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।



जीएसटी लागू होने से भावी परिर्वतन एवं प्रभाव को समझने के लिए आयोजित कार्यशाला की मुख्य वक्ता के तौर पर सर्टिफाइड फाइनेेशियल एजुकेशन ट्रेनर ऑफ सिक्योरिटी एवं सेबी से कनिका गुप्ता और सीए एस आर मोमोदिया मौजूद थे।



'जीएसटी' पर एकदिवसीय कार्यशाला का अयोजन

उन्होंने जीएटी सम्बधिंत जानकारी देते हुए बताया कि जीएसटी एक गन्तव्य आधारित (डेस्टीनेशन बेस्ड) कर है, जो वस्तु एवं सेवाओं की पूर्ती पर लागू होगा। यह एक देश, एक कर तथा एक बाजार की अवधारणा पर आधारित है। जीएसटी आने से देश की अप्रत्यक्ष कर प्रणाली अत्यन्त सरल और सुगम हो जाएगी।



Read: 'क्लीन इंडिया' के तहत जयपुर में सड़कें होंगी चमाचम, रोड स्वीपर और फ्यूम क्लीनर से होगी सफाई
इसके अन्तर्गत समान कर आधार पर केन्द्र की ओर से सेन्ट्रल जीएसटी (सीजीएसटी) और राज्यों की ओर से स्टेट जीएसटी (एसजीएसटी) का आरोपण होगा। उन्होने यह भी बताया कि जीएसटी का मुख्य उद्देश्य एक इकोनॉमिक मार्केट और यूनिफॉर्म रेट हो।



Read: फर्जी दस्तावेजों पर इंडिया आए जर्मन ट्यूरिस्ट की जेल से छूटकर जाने की कोशिश जयपुर में नाकाम हुई

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned