देखें, भगवान और विज्ञान की गुत्थियों को सुलझाने की कोशिश है 'कन्फेशन ऑफ ए डाइंग माइंड'

vijay ram

Publish: May, 20 2017 03:57:00 (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
देखें, भगवान और विज्ञान की गुत्थियों को सुलझाने की कोशिश है 'कन्फेशन ऑफ ए डाइंग माइंड'

ये दुनिया का पहला ऐसा नॉवेल है जिसमें तार्किक रूप से भगवान और विज्ञान की गुत्थियों को समझाने का प्रयास किया गया है। इसी में, मुख्य रूप से एक ऐसे निरिश्वरवादी किरदार विमर्श हैं जिसमें वह मौत के बेहद करीब है और वह अपने इस अंत समय में कई अजूबे अनुभव करता है...

राजधानी जयपुर में युवा आईएएस अधिकारी हाउलियान लाल गुइटे लिखित नॉवेल 'कन्फेशन ऑफ ए डाइंग माइंड' दुनिया का पहला ऐसा नॉवेल है जिसमें तार्किक रूप से भगवान और विज्ञान की गुत्थियों को समझाने का प्रयास किया गया है।



इस तथ्य के साथ दिल्ली स्थित सिविल सर्विसेज ऑफिसर्स इंस्टीट्यूट में केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने शनिवार को गुइटे की बुक लॉन्च की। जयपुर विकास प्राधिकरण के सचिव युवा आईएएस अधिकारी हाउलियान लाल गुइटे लिखित यह नॉवेल पढऩे लायक है।



'कन्फेशन ऑफ ए डाइंग माइंड' का आज विमोचन हुआ
केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने आज सुबह गुइटे की बुक लॉन्च की। इस अवसर पर यूपीएससी के चेयरमैन डेविड आर स्मिलिह भी उपस्थित थे।  विमोचन समारोह को संबोधित करते हुए रिजिजू ने कहा कि यह नॉवेल पाठकों को विज्ञान और दर्शन के बीच मानसिक सैर कराएगा। अपनी तरह के दुनिया के पहले इस दार्शनिक नॉवेल से व्यक्ति भगवान एवं विज्ञान के बीच अनसुलझे पहलुओं से रूबरू होगा।



वहीं, गुईटे ने कहा यह नॉवेल दुनिया का पहला ऐसा नॉवेल है जिसमें तार्किक रूप से भगवान और विज्ञान की गुत्थियों को समझाने का प्रयास किया गया है। किताब में विज्ञान की प्रकृति, धर्म, प्रमाण के साथ-साथ प्रेम के पहलुओं को भी बेहद मार्मिक तरीके से बुना गया है। इस किताब में मुख्य रूप से एक ऐसे निरिश्वरवादी किरदार विमर्श हैं जिसमें वह मौत के बेहद करीब है और वह अपने इस अंत समय में कई अजूबे अनुभव करता है।



Read: देश में हवाई यात्रियों की संख्या 15% बढ़कर 91.34 लाख पहुंची, 2% करते हैं AI से परेशानी की शिकायत

जिससे उसे जीवन का मतलब और धार्मिक महत्व के साथ कई अनसुलझे पहलुओं की महसूसता होती है। उल्लेखनीय है कि नॉवेल के लेखक हाउलियान लाल गुइटे ने 2011 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। वर्तमान में जयपुर विकास प्राधिकरण के सचिव से पहले एसडीएम माउंट आबू और कार्यकारी मजिस्ट्रेट जयपुर और अजमेर नगर निगम के कमिश्नर भी रह चुके हैं। 



Read: दुनियाभर में 1500 करोड कमाने वाली पहली इंडियन मूवी बनी बाहुबली 2, महज 20 दिन में बना ये क्लब

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned