जियारत को ट्रेन में आई महिला की मौत, रेलवे-पुलिस-अस्पताल ने नहीं की मदद, बनारस से मंगवानी पड़ी एंबुलेंस

Jaipur, Rajasthan, India
जियारत को ट्रेन में आई महिला की मौत, रेलवे-पुलिस-अस्पताल ने नहीं की मदद, बनारस से मंगवानी पड़ी एंबुलेंस

जयपुर में चलती रेल में तड़पते हुए गई रुबी खान की जान। अजमेर जियारत करने शौहर के साथ आई थी। दोनों पोरबंदर-दिल्ली सराय रोहिल्ला एक्सप्रेस से दिल्ली जा रहे थे। 5 घंटे दौसा स्टेशन पर पड़ा रहा शव....

वॉट्सएप और ट्विटर के युग में जहां पर एक ट्वीट पर बच्चे के नैपकीन से लेकर दूध तक ट्रेनों में पहुंच रहा है। वहीं ट्रेन में मौत हो जाने के बाद एक महिला के शव को लेजाने के लिए उसके पति को न ही रेलवे ने, न पुलिस ने और न ही अस्पताल प्रशासन ने एंबुलेंस उपलब्ध करवाई।



महिला का शव पांच घंटे तक दौसा स्टेशन पर रखा रहा। आज सवेरे उसके पति ने बनारस से एंबुलेंस मंगाई और शव लेकर बनारस रवाना हुआ। जानकारी के अनुसार, बनारस निवासी अप्सार खान पत्नी रुबी खान के साथ अजमेर जियारत करने आए थे। पोरबंदर-दिल्ली सराय रोहिल्ला एक्सप्रेस से दिल्ली जा रहे थे। इसी दौरान जयपुर में रुबी की तबियत बिगड़ गई और उसकी मौत हो गई।



Read: अब रेलवे से हैं आपके लिए ये खुशखबरी, मिलेंगी राजस्थान को नई ट्रेनें और जयपुर को डबल डेकर
जिसके बाद रेलवे ने उसके शव को दौसा रेलवे स्टेशन उतार दिया और ट्रेन रवाना हो गई। अप्सार ने शव बाहर ले जाने के लिए रेलवे और पुलिस से मदद मांगी, पर दोनों ने ही हाथ खींच लिए। आखिर अप्सार शव को ऑटो से जिला अस्पताल लेकर गया। पोस्टमार्टम के बाद जब अप्सार ने बनारस जाने के लिए एंबुलेंस मांगी तो उसे एंबुलेंस भी नहीं दी गई। जिसके बाद अप्सार ने बनारस से एंबुलेंस मंगवाई।



Read: जयपुर में पिकअप ने रेलवे फाटक तोड़ दिया, ठीक होने तक खड़ी रहीं गरीबरथ समेत 8 एक्सप्रेस और 2 मालगाड़ी

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned