राजस्थानः पेपर लीक करने वाले रैकेट को 23 अप्रेल तक पुलिस रिमांड, पुलिस करेगी पूछताछ

Jaipur, Rajasthan, India
राजस्थानः पेपर लीक करने वाले रैकेट को 23 अप्रेल तक पुलिस रिमांड, पुलिस करेगी पूछताछ

एसओजी ने अदालत में सभी से पूछताछ व अन्य कड़ियां जोड़ने के लिए 25 अप्रेल तक रिमांड मांगा था। कोर्ट ने सभी को पांच दिन के रिमांड पर पुलिस अभिरक्षा में सौंप दिया है।

राज्य में पेपर लीक करने वाले बड़े रैकेट का खुलासा करते हुए एसओजी ने 13 लोगों को गिरफ्तार किया है। एसओजी ने गिरफ्तार 12 आरोपितों को मंगलवार को एसीएमएम-12 कोर्ट में पेश किया जहां से सभी को 23 अप्रेल तक पुलिस अभिरक्षा में भेज दिया गया है। 




इससे पूर्व सोमवार को एक आरोपित को जज के निवास पर पेश कर 19 अप्रेल तक रिमांड पर भेजा। राजस्थान विश्वविद्यालय समेत बीकानेर विश्वविद्यालय के पेपर लीक करने वाले इस रैकेट के आरोपितों को एसओजी ने अलग-अलग छापामार कार्रवाई कर गिरफ्तार किया है। 




इस मामले में एसओजी ने मंगलवार को जयपुर निवासी शरद शर्मा, नंदलाल माली, बाबुलाल गुप्ता, जेपी जाट और राजस्थान विश्वविद्यालय के प्रोफेसर गोविंद पारीक दौसा निवासी चन्द्रप्रकाश, अखिल रावत, अजय कुमार बीकानेर निवासी निरंकार स्वरूप मोदी हनुमानगढ़ निवासी व्याख्यता कालीचरण चौमू निवासी शंभूदयाल और शंकरलाल चौपड़ा को कोर्ट में पेश किया। 




एसओजी ने अदालत में सभी से पूछताछ व अन्य कड़ियां जोड़ने के लिए 25 अप्रेल तक रिमांड मांगा था। कोर्ट ने सभी को पांच दिन के रिमांड पर पुलिस अभिरक्षा में सौंप दिया है। इससे पूर्व एसओजी निपुण मोदी को सोमवार को जज के निवास पर पेश कर चुकी थी। 




व्हाट्सएप से पहुंचे तह तक 

एसओजी ने इस रैकेट का पर्दाफाश करने के लिए लीक होते प्रश्नपत्रों की छानबीन की। इसके बाद उनको जानकारी मिली कि पेपर व्हाट्सएप पर भेजे जा रहे हैं। 




इस दौरान पुलिस ने 150 से ज्यादा लोगों से पूछताछ की तो मामले की तह तक पहुंची और आरोपितों को पकड़ा है। 




उन्होंने बताया कि राजस्थान विश्वविद्यालय समेत बीकानेर विश्वविद्यालय के कुछ पेपर लीक किए गए हैं। अभी पूछताछ की जा रही है और भी कई मामले खुलने की संभावना है।




Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned