आनंदपाल मामला: नहीं मिले पुलिस से लूटे मशीनगन-राइफल्स-वायरलैस सेट्स, 200 से ज़्यादा उपद्रवी हिरासत में

Jaipur, Rajasthan, India
आनंदपाल मामला: नहीं मिले पुलिस से लूटे मशीनगन-राइफल्स-वायरलैस सेट्स, 200 से ज़्यादा उपद्रवी हिरासत में

डीजीपी से लगातार फीडबैक ले रहीं सीएम, एक मशीनगन, दो राइफल और पांच वायरलैस सैट अभी तक नहीं मिले- दोपहर में पुलिस करेगी सांवराद में फ्लैग मार्च, दो सौ से ज्यादा प्रदर्शकारी पुलिस की हिरासत में

24 जून की रात चूरू में हुए पांच लाख के इनामी गैंगस्टर आनंदपाल के एनकाउंटर के बाद शुरू हुआ बवाल अब भी जारी है। एनकाउंटर के 18वें दिन रखी गई श्रद्धांजलि सभा में हुए बवाल के बाद पुलिस की विफलता सामने आई है। 



पुलिस ने डीजी अजीत सिंह को पूरे मामले में अपना दूत बनाकर भेजा था, लेकिन वे भी पुलिस का सहयोग नहीं कर सके। इस मामले में गुरुवार को प्रशासन और आनंदपाल के परिजनों के बीच शव का अंतिम संस्कार करने को लेकर फिर से वार्ता होनी है। 



तनाव के बीच ट्रेनों का संचालन रद्द  

गैंगस्टर आनंदपाल एन्काउंटर मामले में सांवराद में बीती रात उपजे विवाद में प्रदर्शनकारियों ने रेलवे ट्रैक को नुकसान पहुंचाया। उपद्रवियों ने रेलवे ट्रैक की क्लिप निकाल दी जिसके चलते रेलवे प्रशासन ने तनाव को देखते हुए बुधवार को दो ट्रेनों का संचालन रद्द किया वहीं रेलवे प्रशासन रेलवे ट्रैक दुरुस्त कर ट्रेनों का संचालन बहाल करने में जुट गया है।



सांवराद में हुए उपद्रव के बाद प्रदर्शनकारियों ने रेलवे ट्रैक को खासा नुकसान पहुंचाया है। उत्तर पश्चिम रेलवे के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी कमल जोशी ने बताया कि बीती रात सांवराद में प्रदर्शनकारियों ने रेलवे ट्रैक की क्लिप व हुक निकाल दिए जिसके चलते बुधवार को दो ट्रेनों का संचालन रद्द किया गया। रेलवे ट्रैक की मेंटीनेंस का काम शुरू कराया है।



 हालांकि ट्रैक को हुए नुकसान के कारण मेड़ता रोड रतनगढ़ पैसेंजर ट्रेन को कैंसिल कर दिया गया है जबकि हिसार जोधपुर ट्रेन को रतनगढ़ स्टेशन पर रद्द किया गया है। रेलवे ट्रैक ठीक होने के बाद दोपहर ट्रैक पर ट्रायल इंजन चलाया जाएगा व जांच के बाद  रूट पर ट्रेनों का संचालन बहाल करने की कार्रवाई की जाएगी।



दोपहर बाद दी जा सकती है कर्फ्यू में ढील 

एडीजी एनआरके रेड्डी ने बताया कि जो हथियार और वायरलैस सैट लूटे गए थे, उनकी तलाश कर रहे हैं। बुधवार को हुई हिंसा के बाद करीब तीस लोगों को चोटें आई हैं। इनमें से इक्कीस पुलिसकर्मी हैं। इस घटना के बाद बुधवार रात करीब नौ बजे वहां पर कर्फ्यू लगाया गया है, जो गुरुवार रात नौ बजे तक यह जारी रहेगा। दोपहर बाद इस कर्फ्यू में कुछ देर के लिए ढील दी जा सकती है। 



पांच नेता, दो सौ प्रदर्शनकारी हिरासत में

उपद्रव करने और भड़काऊ भाषण देने के चलते पुलिस ने नागौर और जयपुर से पांच नेताओं को हिरासत में लिया है। इनपर भड़काऊ भाषण देने के आरोप हैं। इन्हें कहां रखा गया है इस बारे में फिलहाल पुलिस ने जानकारी देने से इंकार कर दिया। उधर, दो सौ से भी ज्यादा उपद्रवियों को नागौर, सीकर समेत आस-पास के अन्य जिलों में हिरासत में लिया गया है।



छावनी बना ट्रोमा सेंटर

वहीं बीते दिन सांवराद में हुई हिंसा में घायल हुए पुलिसकर्मियों का उपचार एसएमएस अस्पताल के ट्रोमा सेंटर में जारी है। दो पुलिस कर्मियों को आईसीयू में रखा गया है। अन्य पुलिस कर्मियों का इमरजेंसी वार्ड में उपचार चल रहा है। पूरे ट्रोमा सेंटर को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। 



एक एक घायल पुलिस कर्मियों की सुरक्षा के लिए तीन तीन एके-47 से लैस पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है। इमरजेंसी वार्ड में चिकित्सकों और नर्सिंग कर्मियों के अलावा किसी अन्य को प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। ट्रोमा सेंटर में दो अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, तीन थाना प्रभारी समेत सौ से ज्यादा पुलिस कर्मियों का जाब्ता तैनात किया गया है। आईसीयू में भर्ती पुलिसकर्मी की आंख का रात को ही ऑपरेशन कर दिया गया है।



हिंसा के समय मौजूद लोगों ने बताई आपबीती

घायल प्लाटून कमांडर राजेन्द्र सिंह ने बताया कि सब कुछ शांति से चल रहा था लेकिन शाम को सभा में आए युवा अपना सब्र खो बैठे और उन्होंने लौटते समय पत्थरबाजी शुरू कर दी। पुलिस लगातार युवकों को वहां से चले जाने की चेतावनी देती रही लेकिन वे नहीं माने। एक के बाद एक कई पुलिसकर्मी पत्थरों से घायल होकर खेतों में ही गिरने लगे। 



वहीं नागौर के गौटन से सभा में आए युवक पर्बत सिंह का भी उपचार एसएमएस अस्पताल के ट्रोमा सेंटर में चल रहा है। पर्बत सिंह ने कहा कि सभा के बाद सभी युवक अपने घर जाने लगे लेकिन हवाई फायर की आवाज सुन कर भगदड़ मच गई और पुलिस ने लाठियां बरसाना शुरू कर दिया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned