वह री राजस्थान सरकार! तबादलों के भंवर में फंसा डाली 'अफसरशाही', 3 साल में अफसरों के किए 6-6 बार ट्रांसफर

Jaipur, Rajasthan, India
वह री राजस्थान सरकार! तबादलों के भंवर में फंसा डाली 'अफसरशाही', 3 साल में अफसरों के किए 6-6 बार ट्रांसफर

तीन साल में कई अफसरों के कर दिए गए छह बार तबादले, नए विभाग का कामकाज समझने से पहले ही भेज दिया जाता है नए विभाग में, बड़ा सवाल: राजनेताओं का दबाव या मलाईदार पद का फेर

राज्य में ब्यूरोक्रेसी को तबादले के जरिए मथा जा रहा है। राजनेताओं की पसंद और नापसंद के साथ मलाईदार पद के फेरे को इन अधिकारियों के साथ जनता को भी भोगना पड़ रहा है। हालात यह है कि केन्द्र से इन अधिकारियों के तबादलों को लेकर बनाए गए 'दो साल के नियम' को दरकिनार कर धड़ाधड़ तबादले किए जा रहे हैं। 



यही नहीं हर तबादला सूची में चुनिंदा अफसरों के नाम हमेशा शामिल रहते हैं। एेसे में साफ है कि तबादलों की आड़ में कई अधिकारी सरकार के निशाने पर हैं। दूसरी ओर अफसर और नेताओं के बीच चलने वाली खींचतान का सबसे बड़ा नुकसान यदि किसी को भोगना पड़ता है तो वह है आम जनता। न तो उनके काम समय पर होते हैं और न ही सुनवाई ।



अधिकारियों की कमी

प्रदेश में भारतीय प्रशासनिक सेवा से मिलने वाले अधिकारियों की हमेशा से कमी रहती है। इसके बावजूद भी इन अधिकारियों की क्षमताओं को पूरा उपयोग लेने की जगह उन्हें राजनीतिक पसंद- नापसंद के हिसाब से तबादलों के भंवर में फंसाया जा रहा है। हालात का अंदाजा इस बात से लगा सकते है कि प्रदेश में 242 आईएएस अधिकारी हैं। इनमें से 180 अधिकारी पिछले तीन साल में 2 बार से ज्यादा तबादले की मार झेल चुके हैं। 



यहां तक कि कई अफसर तो सरकार की आंख की ऐसी किरकिरी बने हुए हैं कि तीन साल में ही उनके छह बार तक तबादले हो चुके हैं। आईपीएस अधिकारियों को भी हाल ऐसा ही है। प्रदेश के 187 आईपीएस अधिकारियों में से 115 का तीन साल में दो बार तबादला किया जा चुका है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned