मरीज लावारिस,न आउटडोर में इलाज और न ही वार्ड में इलाज

guest user

Publish: Mar, 09 2017 12:19:00 (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
मरीज लावारिस,न आउटडोर में इलाज और न ही वार्ड में इलाज

वरिष्ठ चिकित्सकों के सामूहिक इस्तीफे, ठेकाकर्मी हडताल पर ,पर्ची काउंटरों पर लंबी

 प्रदेश में अगले सत्र से खुलने वाले सात नए मेडिकल कॉलेजों में आचार्य,सह आचार्य और सहायक आचार्य की नियुक्त् के लिए चिकित्सा शिक्षा विभाग की नई व्यवस्था का विरोध एसएमएस अस्प्ताल के मरीजों पर भारी पड रहा है। 


कॉन्स्टेबल भर्ती मामला - अब वित्त विभाग को भेजा जाएगा भर्ती का प्रस्ताव


हालात ऐसे हैं कि वरिष्ठ चिकित्सक नहीं होने से न तो आउटडोर में और न ही वार्ड में इलाज मिल रहा है। अस्पताल में तीन हजार मरीज भर्ती है और करीब छह हजार मरीज हर रोज आउटडोर में आते है। एसएमएस चिकित्सक शिक्षकों के सामूहिक इस्तीफे ने निपटने के लिए अस्पताल प्रशासन ने 200 ​मेडिकल ऑफिसर चिकित्सा विभाग से मांगे है। 


तीन किलोमीटर पीछा कर पुलिस ने दबोचा शराब तस्कर,15 पेटी भी जब्त की


वहीं इस्तीफा देने वाले सभी चिकित्सकों ने आज सुबह एसएमएस अस्पताल के गेट पर गेट मीटिंग की । चिकित्सकों का कहना था कि यह सरकार का मनमाना आदेश है। चिकित्सा शिक्षा विभाग में अलग तरह की व्यवस्था है। चरमाई व्यवस्थाडॉक्टरों के बडे स्तर पर सामूहिक इस्तीफे से एसएमएस अस्पताल एसएमएस मेडिकल कॉलेज से जुडे अस्पतालों की व्यवस्थाएं चरमरा गई है। 


100 साल का हुआ चांदपोल चर्च, 95 साल पुरानी घड़ी की गूंज रही टिकटिक

सर्जरी वाले विभागों में बडे ऑपरेशन टाल दिए हैं या फिर मरीजों को बाद में आने के कहा जा रहा है। केवल आपातकालीन ऑपरेशन ही किए जाएंगे।धन्वंतरि आउटडोर में भी मरीजों को चिकित्सक नहीं मिल रहे हैं। भटकते रहे मरीज रजिस्ट्रशन भी ठप्पअस्पताल में मरीज इलाज के लिया यहां वहां भटकते नजर आए ।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned