PHOTOS: गर्मी झुलसा ही रही है, यहां 4 माह से टंकी भी खाली, पानी के लिए त्राही-त्राही मच रही है

Jaipur, Rajasthan, India
PHOTOS: गर्मी झुलसा ही रही है, यहां 4 माह से टंकी भी खाली, पानी के लिए त्राही-त्राही मच रही है

इन गांवों में करीब चार माह से जलदाय विभाग की अनदेखी के कारण पानी की सप्लाई नहीं हो रही है। भटक रहे लोग...

बस्सी उपखंड क्षेत्र के तीन गांव राष्ट्रीय राजमार्ग आगरा रोड के दो किलोमीटर अंदर स्थित है जहां पानी के लिए त्राही-त्राही मच रही है। इन गांवों में करीब चार माह से जलदाय विभाग की अनदेखी के कारण पानी की सप्लाई नहीं हो रही है। 



बस्सी के गांवों में पानी की सप्लाई नहीं होने से भटक रहे लोग
जानकारी के अनुसार उपखंड क्षेत्र के मानसर खेड़ी पंचायत के तीन गांव बिहारीपुरा, पिल्सन बिहारीपुरा व बीलवा के लोगों के लिए पानी की व्यवस्था के लिए टंकी बनाई गई थी। लेकिन पानी के बोरिंग सूख जाने व कई जगह पाइप लाइन टूट जाने के कारण पेयजल सप्लाई ठप पड़ी है। जलदाय विभाग की अनदेखी के कारण बोरिंग की खुदाई व बोरिंग में पाइप नहीं डलाने व बोरिंग की मोटरें खराब होने के कारण पानी की किल्लत खड़ी हो गई है।



चार माह से टंकी खाली, ग्रामीण परेशान

करीब चार माह से यहां के निवासी जलदाय विभाग के अधिकारियों से लेकर जनप्रतिनिधियों को गुहार लगा चुके हैं लेकिन इनकी सुनवाई नहीं हो पाई है। तीन गांवों के बाशिंदों को पेयजल सप्लाई के लिए यहां जलदाय विभाग की अनदेखी के कारण चार माह से पेयजल सप्लाई नहीं मिल रही है। करीब 6-7 साल पहले टंकी का निर्माण कराया गया था। उस समय इस टंकी द्वारा तीन गांवों को जलदाय विभाग सप्लाई देता था। लेकिन कभी भी जलदाय विभाग ने इसकी सुध नहीं ली। चार माह से टंकी खाली पड़ी है। लोगों ने एईएन से लेकर जनप्रतिनिधियों को कई बार ज्ञापन सौंप दिया है लेकिन आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला है।


jaipur-rajasthan-591eaf86bd7d0.jpg">
मोटरें भी हो गईं खराब

स्थानीय लोगों ने बताया बोरिंग में लगाई गई मोटरें भी खराब पड़ी हैं जिनकी सुधारने की सुध अभी तक जलदाय विभाग नहीं ले रहा है। जिसके कारण तीनों गांवों के करीब तीन हजार लोग पानी के लिए तरस रहे हैं।



डलाने पड़ते हैं टैंकर

पेयजल आपूर्ति के लिए यहां के लोगों को महंगे दामों पर टैंकर डलाने पड़ते हैं जिसके कारण उन्हें आर्थिक समस्या का सामना करना पड़ता है। कई गरीब तबके के लोग टैंकर डलाने में असमर्थ होते हैं वो दो तीन किलोमीटर दूर जाकर पानी साइकिलों व मोटर साइकिलों से जाकर पानी लाते हैं।


रोजमर्रा के कार्य होते हैं वंचित

स्थानीय लोगों ने बताया प्रात: चार बजे से ही पानी के लिए इधर-उधर भटकना पड़ता है। यहां किसान खेती के लिए बिजली आपूर्ति भी रोटेशन सिस्टम से आती है। कभी दिन में तो कभी रात में। जिसके कारण कई बार लोगों को किसानों के खेतों में जाकर रात्रि में पानी भरकर लाना पड़ता है।



अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों से गुहार लगाने के बाद भी कार्रवाई नहीं

करीब चार माह से टंकी खाली है। पेयजल सप्लाई के लिए कई बार अधिकारियों को अवगत कराया जा चुका है। शीघ्र हल नहीं निकाला तो लोग सड़कों पर उतर आएंगे।
- हनुमान सहाय सैन, पूर्व वार्ड, पंच बिहारीपुरा



पेयजल सप्लाई ठप है। उच्च अधिकारियों को जानकारी देने के बाद भी सप्लाई सुचारू नहीं हुई है।
- बाबूलाल मीणा, महामंत्री, भाजपा नगर मंडल



Read: राजस्थान हाईकोर्ट ने RPSC सचिव को 24 मई को पेश होने का आदेश दिया, इस मामले मे होगी खिंचाई
एईएन को निर्देश दे दिए गए हैं। शीघ्र पेयजल की सप्लाई सुचारू की जाएगी। पाइप डालने का कार्य शुरू करने के निर्देश दे दिए हैं। 
- प्रभुदयाल शर्मा, एसडीएम, बस्सी



शीघ्र बोरिंगों में पाइप डलवाए जाएंगे। जहां पाइप लाइन फॉल्ट है वहां से लाइन को शीघ्र दुरुस्त कर पेयजल सप्लाई सुचारू की जाएगी। मोटरों को भी बदल कर पानी की सप्लाई शुरू कर दी जाएगी।
- अशोक मीणा, एईएन, जलदाय विभाग, बस्सी



पाइप डाले तो आए पानी
यहां दो बोरिंग बनाए गए थे जिनमें पानी का स्तर नीचे जाने के कारण पानी नहीं आ रहा है। स्थानीय निवासियों ने बताया बोरिंगों में पानी तो है लेकिन जलदाय विभाग इनमें पाइप डाले और खुदाई कराए तो पानी की सप्लाई सुचारू हो सकती है।



वॉल्व है खराब

टंकी से पानी सप्लाई के लिए लगाया गया वॉल्व खराब हो चुका है। जिसको सुधारने के लिए कई बार अधिकारियों को अवगत कराया जा चुका है। जब वॉल्व खोला जाता है तो निचली जगहों पर तो पानी चला जाता है लेकिन दो जगह पानी बिल्कुल नहीं आता है। वॉल्व को सुधारने के लिए वहां कार्यरत कर्मचारी ने भी कई बार जलदाय विभाग को अवगत कराया है।



Read: पेपर निरस्त किए जाने पर राजस्थान यूनिवर्सिटी में पथराव-लाठीचार्ज, JLN मार्ग पर देखें बवाल

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned