रोडवेज में वातानुकूलित बसों का अभाव, कैसे जुड़ेंगे सैलानी

Jaisalmer, Rajasthan, India
रोडवेज में वातानुकूलित बसों का अभाव, कैसे जुड़ेंगे सैलानी

- जैसलमेर को नहीं मिल रहा वोल्वो व डीलक्स सेवा का लाभ- पर्यटननगरी होने के बाद भी रोडवेज की शाही बस सेवा से वंचित

जैसलमेर. सोनी की चमक का अहसास व मखमली धोरों के भ्रमण के लिए हर साल हजारों सैलानी स्वर्ण  नगरी आते है, लेकिन फिर भी उन्हें रोडवेज बसों से जोडऩे का प्रयास नहीं किया जा रहा है। हालात ये है कि स्वर्ण नगरी में रोडवेज की ओर से सैलानियों को जोडऩे के लिए ना तो वोल्वो और ना ही डिलक्स बस का संचालन किया जा रहा है। ऐसे में स्वर्णनगरी भ्रमण पर आने वाले पर्यटक रोडवेज बस सेवा से  नहीं जुउ़ पा रहे। जिससे ना केवल रोडवेज का घाटा कम हो रहा है और ना ही यात्री भार ही बढ़ रहा है। जानकारों की माने तो पर्यटननगरी के रुप में अपनी पहचान बना चुकी स्वर्णनगरी जैसलमेर से दिल्ली तक संचालित वोल्वो बस सेवा को दो साल से बंद है, जबकि इससे पहले वोल्वो का नियमित संचालन किया जाता था। वोल्वो बंद होने से पर्यटकों को कई जैसलमेर पहुंचने में कईं समस्याएं झेलनी पड़ रही है। 
अब नहीं है दिल्ली से सीधी सेवा
 वोल्वो बस सेवा का संचालन राजधारी दिल्ली से जैसलमेर तक सीधी थी, लेकिन इस सेवा के बंद करने के बाद से जैसलमेर से दिल्ली के बीच कोई सीधी बस सेवा नहीं होने से कईं सैलानियों को जोधपुर, बीकानेर, बाड़मेर के रास्ते जैसलमेर पहुंचना पड़ रहा है। ऐसे में कईं यात्री इतनी अधिक दुविधा से बचने के लिए अपना जैसलमेर देखने का प्लान ही बदल रहे है। हालात ये है कि अब दिल्ली से सीधी बस सेवा के अभाव में कई विदेशी सैलानी जैसलमेर पहुंचे, इससे पहले ही वे लौट जाते है। गौरतलब है कि जैसलमेर से पर्यटकों को जोडऩे के लिए जैसलमेर से वोल्वों बस का संचालन शुरू किया था, लेकिन गत तीन सालों से जैसलमेर से इस बस सेवा को बंद कर दिया गया है। ऐसे में इस बस सेवा का उपयोग करने वाले पर्यटकों के साथ यात्रियों को वातानूकूलित बस सेवा का लाभ नहीं मिल रहा।  
जैसलमेर देखने का सपना अधूरा
प्रदेश के अन्य पर्यटन स्थलों के साथ स्वर्णनगरी की आभा को निहारने के लिए आने वाले यात्रियों को जैसलमेर पहुंचने के लिए पर्याप्त यातायात साधान उपलब्ध नहीं होने से सैकड़ों पर्यटकों का जैसलमेर देखने का सपना अभी भी अधूरा ही है। जैसलमेर डिपो की कोई भी बस अन्य राज्यों से सीधी जुड़ी नहीं होने से कईं पर्यटक परेशान है। पर्यटकों को जोडऩे के लिए करीब सात साल पहले दिल्ली से जैसलमेर के बीच वोल्वो बस सेवा का संचालन शुरू किया गया था, लेकिन तीन साल पहले इस सेवा को भी बंद कर दिया गया। ऐसे में सैलानियों का गर्मी के दिनों में वातानुकूलित बस में सफर कर जैसलमेर पहुंचने का सपना अधूरा है। 
डिलक्स बस सेवा भी नहीं
जैसलमेर से डीलक्स बस का संचालन भी चार सालों से बंद है। पूर्व में अीमदाबाद से जैसलमेर के बीच एक डीलक्स स्लीपर बस सेवा का संचालन होता था। जिसे भी चार साल पहले बंद कर दिया गया। ऐसे में जैसलमेर से अहमदाबाद तक का सीधा जुड़ाव अब नहीं रहा। इस रुट पर स्लीपर क्लास में यात्रा करने वाले यात्रियों को अब निजी बस सेवा का उपयोग करना मजबूरी बन गया है। पर्यटन की दृष्टी से विश्व पटल पर अपनी खास पहचान रखने के बाद भी जैसलमेर को रोडवेज बसो का संचालन नहीं हो रहा। 
फैक्ट फाइल
- ५१ बसें है जैसलमेर रोडवेज डिपो के पास।
- ३५ बसों का ही वर्तमान में हो रहा है नियमित संचालन। 
- 5 लाख से अधिक यात्री हर साल आते है जैसलमेर भ्रमण पर।
- 20 नई बसों का हॉल ही में जैसलमेर को हुआ था आवंटन। 
- 16 बसे अभी भी रुट के इंतजार में खड़ी है डिपो के बैड़े में। 
- वोल्वो व डिलक्स बस का संचालन नहीं हो रहा है जैसलमेर से। 
- 25 से अधिक जिलों में जैसलमेर डिपो की रोडवेज बस का नहीं है सीधा जुड़ाव। 
उदयपुर सेवा से जुड़ेंगे यात्री
 जैसलमेर व उदयपुर डिपो से सैलानियों के लिए जैसलमेर से उदयपुर के लिए सीधी बस सेवा का संचालन शुरू किया है। इन बसों के संचालन से रोडवेज का यात्री भार बढऩे की उम्मीद है। साथ ही में सैलानी भी रोडवेज की इस सेवा का लाभ ले सकते है। यात्रीभार बढ़ा तो वोल्वो व डिलक्स बस  सेवा शुरू करने के प्रयास भी किए जाएंगे। 
- तस्द्दूख खां मुख्य प्रबंधक रोडवेज डिपो, जैसलमेर

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned