जेल प्रहरी से मारपीट के आरोपितों को कारावास

pradeep beedawat

Publish: Jul, 14 2017 12:21:00 (IST)

Jalore, Rajasthan, India
जेल प्रहरी से मारपीट के आरोपितों को कारावास

जालोर . जिला कारागार में जेल प्रहरी के साथ मारपीट के दो आरोपितों को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट गजेन्द्रसिंह तेनगुरिया ने एक साल के कारावास की सजा सुनाई।

जालोर . जिला कारागार में जेल प्रहरी के साथ मारपीट के दो आरोपितों को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट गजेन्द्रसिंह तेनगुरिया ने एक साल के कारावास की सजा सुनाई। अभियोजन पक्ष के अनुसार जिला कारागार के प्रहरी सहदेव ने पुलिस में रिपोर्ट देकर बताया था कि वह अपने साथी प्रहरी मोतीलाल व आरएससी जवान मदनलाल के साथ १६ जुलाई २०१५ को सवेरे ६ बजे ड्यूटी पर जेल में गए। तब बंदी जालोर निवासी नरेश कुमार पुत्र धुकाराम माली ने लंगर में काम करने से मना करते हुए गाली गलौज किया तथा मारपीट कर जान से मारने की धमकी दी।
रानीवाड़ा कल्ला के साथी बंदी लालचंद पुत्र उत्तमचंद सोनी, हीरसिंह पुत्र कुशालसिंह राजपूत व जालोर निवासी लाभुराम पुत्र कमाराम देवासी समेत अन्य ७-८ बंदियों ने घेरते हुए राजकार्य में बाधा पहुंचाई। पुलिस ने जेल प्रहरी के साथ ड्यूटी के दौरान मारपीट करने का मामला दर्ज कर न्यायालय में आरोप पत्र पेश किया। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद गुरुवार को नरेशकुमार व लाभूराम को दोषी करार देते हुए एक साल के कारावास की सजा से दंडित किया। हीरसिंह को परिवीक्षा पर छोड़ा गया। लालचंद भगोड़ा घोषित होने से निर्णय रिजर्व रखा। अन्य आरोपितों को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया गया।ज्ञातव्य है कि आरोपित नरेशकुमार आदतन अपराधी है। इसे कठोर कारावास की सजा सुनाई गई। पूर्व में जालोर में कपिल हत्याकाण्ड एवं भीनमाल व जालोर में लूट समेत कई प्रकरण भी इस पर दर्ज है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned