बिजली चोरी के आरोपी को छह माह की सजा

Harshwardhan Bhati

Publish: Dec, 01 2016 10:43:00 (IST)

Jodhpur, Rajasthan, India
बिजली चोरी के आरोपी को छह माह की सजा

आम तौर पर लोग यह समझते हैं कि अगर वे बिजली चोरी करते रहें और पकड़े नहीं जाएंगे तो यह उनकी गलतफहमी है।अब बिजली चोरी करने वाले लोगों को सजा होने लगी है।

विद्युत चोरी के मामले में विशिष्ट न्यायाधीश (विद्युत अधिनियम प्रकरण) जोधपुर महानगर मधुसूदन शर्मा ने आरोपी बीजेएस कॉलोनी निवासी ओमप्रकाश को दोषी ठहराते हुए अलग-अलग धाराओं में छह-छह माह की सजा सुनाई है।

बिजली का उपयोग करते हुए पाया

राज्य सरकार की ओर से विशिष्ट लोक अभियोजक प्रदीप शर्मा ने अदालत को बताया कि जोधपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के सतर्कता दल ने तीन फरवरी, 2012 को ओमप्रकाश के मकान पर सतर्कता निरीक्षण में विद्युत मीटर के साथ छेड़छाड़ करके अवैध रूप से बिजली का उपयोग करते हुए पाया।

सीलें टेम्पर्ड पाई गईं

मीटर की बॉडी सीलें टेम्पर्ड पाई गई। उक्त विद्युत मीटर एक फेज पर बन्द, एक फेज पर सही व एक फेज पर धीमा चलता पाया। इस पर कोर्ट ने आरोपी को विद्युत अधिनियम, 2003 की धारा 135 व 138 के तहत दोषसिद्ध ठहराया।

आरोपी का प्रथम अपराध

सजा के बिन्दु पर आरोपी के वकील ने कहा कि यह आरोपी का प्रथम अपराध है। वह वृद्ध व्यक्ति है। उसने प्रोबेशन पर छोडऩे का अनुरोध किया। 

उचित दण्ड देने का निवेदन

वहीं अपर लोक अभियोजक प्रदीप शर्मा ने आरोपी को प्रोबेशन का लाभ देने का विरोध करते हुए उचित दण्ड देने का निवेदन किया।

दण्डित करने का आदेश

दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद अदालत ने विद्युत अधिनियम की धारा 135 व 138 के तहत छह माह के साधारण कारावास और 60 हजार रुपए के अर्थदण्ड से दण्डित करने का आदेश दिया।



Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned