इस गांव में रोज मर रही है दो गायें, कारणों का पता नहीं

pawan pareek

Publish: Apr, 14 2017 12:57:00 (IST)

jodhpur
इस गांव में रोज मर रही है दो गायें, कारणों का पता नहीं

अज्ञात बीमारी के चलते बाप ब्लॉक के सावरागांव मंे रोज दो गायों मर रही है। एक माह में अब तक यहां सौ से ज्यादा गायें मर चुकी है। यह सिलसिला जारी है।

अज्ञात बीमारी के चलते बाप ब्लॉक के सावरागांव मंे रोज दो गायों मर रही है। एक माह में अब तक यहां सौ से ज्यादा गायें मर चुकी है। यह सिलसिला जारी है। 


पशु चिकित्सकों की टीम गायों के मरने का ठोस कारण अभी तक पता नहीं लगा पाई है। पशु चिकित्सकों को आशंका है कि यह पाइका रोग हो सकता है। ग्रामीणों को डर है कि यदि यह सिलसिला रोका नहीं गया तो यह क्षेत्र गायविहीन हो सकता है।


ग्रामीणों व पशुपालकों ने रोष जाहिर करते हुए बताया कि करीब एक माह पूर्व अज्ञात बीमारी का शिकार होकर गायों के मरने का सिलसिला प्रारंभ हुआ।


 इसकी सूचना तुरन्त प्रभाव से प्रशासन व पशुपालन विभाग को दी गई, लेकिन उन्होने काई उचित कार्रवाई नहीं की।


पशुपालन विभाग की टीम एक-दो बार गांव में जरूर आई, लेकिन उनके पास भी दवाइयों का अभाव था। गायों के मरने का क्रम लगातार जारी है। 


बीती रात भी चार दुधारू गायें अज्ञात बीमारी का शिकार हो गई है। पीडि़त पशुपालकों ने बताया कि सर्वप्रथम गाय बीमार होती है।


इसके बाद गाय का शरीर काम करना बंद कर देता है तथा पैर जाम हो जाते है। गाय में धूजणी छूट जाती है। इसके बाद उसकी मौत हो जाती है।



20 दिन बाद भी नही आई रिपोर्ट


पशुपालन विभाग की जयपुर एवं जोधपुर से टीम पिछले माह की 26 तारीख को सावरागांव पहुंची थी। टीम के सदस्यों ने मृत गायों का पोस्टमार्टम कर विसरा संग्रह किया था, लेकिन आज दिन तक रिपोर्ट नही आई है।


इनका कहना है

हमारी टीम लगातार सावरागांव में उपचार हेतु लगी हुई है तथा पर्याप्त मात्रा में भी दवाइयां भी उपलब्ध है। इस क्षेत्र की गायों में इस प्रकार की बीमारी चल रही है। यह मृत पशुओं की हड्डी खाने से होती है। जयपुर से विसरा की रिपोर्ट आने पर बीमारी का पूरा खुलासा हो पाएगा।

-डॉ. दशरथसिंह, संयुक्त निदेशक, पशुपालन विभाग जोधपुर। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned