पत्नी को गंभीर बीमार बता हाईकोर्ट में पेश किया फर्जी प्रमाण पत्र

Harshwardhan Bhati

Publish: Apr, 21 2017 09:27:00 (IST)

Jodhpur, Rajasthan, India
पत्नी को गंभीर बीमार बता हाईकोर्ट में पेश किया फर्जी प्रमाण पत्र

मादक पदार्थ तस्करी के आरोप में पाली जेल में बंद एक युवक ने अंतरिम जमानत के लिए पत्नी को गम्भीर बीमार बताकर हाईकोर्ट में फर्जी प्रमाण पत्र पेश कर दिया। जांच कराने पर न सिर्फ पत्नी फिट पाई गई, बल्कि प्रमाण पत्र भी फर्जी निकला। न्यायाधीश के निर्देश पर डिप्टी रजिस्ट्रार ने उदयमंदिर थाने में एफआईआर दर्ज करवाई है।

उप निरीक्षक महेन्द्र चौधरी ने बताया कि हाईकोर्ट के डिप्टी रजिस्ट्रार देवेन्द्र सिंह भाटी की तरफ से मूलत: लूनी थानान्तर्गत राजपुरिया हाल सांगरिया फांटा के पास निवासी सुनील पुत्र भींयाराम बिश्नोई तथा अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। 

पाली जिले की सीरियारी थाना पुलिस ने गत वर्ष सुनील को एनडीपीएस एक्ट में गिरफ्तार किया था। जो पाली जेल में बंद है। उसने अंतरिम जमानत पाने के लिए गत दिनों अधिवक्ता के मार्फत हाईकोर्ट में आवेदन पेश किया था। उसके साथ उम्मेद अस्पताल के नाम से एक प्रमाण पत्र भी था। अधिवक्ता ने सुनील की पत्नी सायरीदेवी के गम्भीर बीमारी से ग्रस्त होने तथा शीघ्र ऑपरेशन करवाने के लिए सुनील के मौजूद रहने की आवश्यकता जताई। इसलिए तीस दिन की अंतरिम जमानत पर रिहा करने का अनुरोध किया था। 

न्यायाधीश ने सायरीदेवी के स्वास्थ्य की जांच कराने के आदेश दिए। जिसमें वह पूरी तरह फिट पाई गई। उसे कोई गम्भीर बीमारी नहीं थी। तब हाईकोर्ट ने प्रमाण पत्र भी जांच करवाई।

आउटडोर पर्ची को बना दिया प्रमाण पत्र

पुलिस का कहना है कि उम्मेद अस्पताल ने एेसे किसी प्रमाण पत्र के जारी करने से इनकार कर दिया। साथ ही यह भी अवगत कराया कि फर्जी प्रमाण पत्र पर जिस चिकित्सक के नाम का उल्लेख है वो उम्मेद अस्पताल में कार्यरत ही नहीं है। यह प्रमाण पत्र आउटडोर में मरीज की जांच के लिए दी जाने वाली पर्ची पर बना हुआ था। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned