जोधपुर: शादीशुदा आदमी संग पत्नी की तरह रह रही थी, इस वाकये के बाद पैरों तले खिसकी जमीन

Jodhpur, Rajasthan, India
जोधपुर: शादीशुदा आदमी संग पत्नी की तरह रह रही थी, इस वाकये के बाद पैरों तले खिसकी जमीन

पत्नी के जीवित रहते तथा तलाक दिए बिना दूसरा विवाह करने के एक मामले में लिव इन में रहने वाले इस कपल पर गाज गिरी है। जानें अदालत ने चोरी और सीनाजोरी के इस वाकये में क्या निर्णय सुनाया...

अपर जिला एवं सेशन न्यायालय संख्या-4 ने दूसरे विवाह के मामले में निचली अदालत के आदेश को यथावत रखते हुए उसमें दखल से इनकार कर दिया। ये आदेश न्यायाधीश उपेन्द्र शर्मा ने अभियुक्ता अनिता की ओर से प्रस्तुत निगरानी याचिका को खारिज करते हुए दिए।


READ MORE- जोधपुर मिग क्रैश: जय हो..! खेतों में काम कर रहे बच्चों ने यूं की थी घायल पायलट की सेवा


यह है मामला

प्रतापनगर निवासी गुलाबी पत्नी रामलाल की ओर से अधिवक्ता हेमन्त बावेजा ने बताया कि गुलाबी का विवाह बालोतरा निवासी रामलाल से हुआ था। विवाह के बाद रामलाल ने गुलाबी को मारपीट कर घर से निकाल दिया। रामलाल ने अपनी पत्नी गुलाबी को बिना तलाक दिए तथा उसके जीवित रहते हुए अनिता नाम की युवती से दूसरा विवाह कर लिया। पति-पत्नी की तरह साथ-साथ रहने के दौरान एक पुत्री तरुणा का जन्म भी हुआ।


READ MORE- जोधपुर के मथुरादास माथुर अस्पताल में खुलेगा ट्रोमा अस्पताल, इन सुविधाओं से होगा लैस


निचली अदालत ने दिए थे ये आदेश

अपर सिविल न्यायाधीश वरिष्ठ खण्ड संख्या-2 ने दूसरी शादी की धारा भारतीय दण्ड संहिता की धारा 494 के तहत रामलाल व अनिता को दोषी मानते हुए प्रसंज्ञान लिया व आरोपितों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए। अनिता ने आदेश को अपर जिला एवं सेशन न्यायालय संख्या-4 में चुनौती दी। जहां न्यायालय ने निचली अदालत के आदेश को विधि की दृष्टि से स्थिर रखे जाने योग्य तथा वैध मानते हुए यथावत रखा और निगरानी याचिका को खारिज कर दिया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned