डाकिए ने 4 महीने तक रोका राजस्थान की इस पंचायत का विकास!

Jodhpur, Rajasthan, India
डाकिए ने 4 महीने तक रोका राजस्थान की इस पंचायत का विकास!

क्या आप सोच सकते हैं जोधपुर से 100 किलोमीटर दूर बसे निम्बो का तालाब गांव का विकास एक डाकिए ने 4 महीने तक रोके रखा।

क्या आप सोच सकते हैं जोधपुर से 100 किलोमीटर दूर बसे निम्बो का तालाब गांव का विकास एक डाकिए ने 4 महीने तक रोके रखा। डाकिए की वजह से ग्राम पंचायत के अधीन आने वाले गांवों में स्कूल सहित सार्वजनिक भवनों का निर्माण कार्य ठप रहा। पाइपलाइन और पानी की टंकी अधूरी रही। साथ ही कई कार्यों के भुगतान अटके रहे।



गांव के डाकिए ने वित्त विभाग की ओर से भेजे गए 6 लाख रुपए से अधिक का डिमाण्ड ड्राफ्ट (डीडी) चार महीने से अधिक अपने पास ही रोके रखा। अब जब ग्राम पंचायत को डीडी डिलिवर किया। समयावधि गुजरने से वह एक्सपायर हो गया। ग्राम सेवक ने जयपुर जाकर रीन्युअल करवाया।



इस संबंध में ग्राम सेवक शेखर परिहार का कहना है कि डाकिए से मेरी किसी तरह की बात नहीं हुई। डीडी 4 महीने देरी से मिला। मैं तो जयपुर जाकर उसका वापस नवीनीकरण करवाकर लाया हूं। उधर, सरपंच संतोष कंवर ने कहा कि डाकिए ने राजनीतिक द्वेष के चलते यह कदम उठाया है। डाकिए की पुत्रवधू पिछली बार चुनाव में हार गई थी। डीडी अटकने से गांव का विकास प्रभावित हुआ है।



क्या है मामला

जिले की बापिणी पंचायत समिति के निम्बों का तालाब ग्राम पंचायत के नाम वित्त विभाग ने 4 अगस्त को 6 लाख 13 हजार 64 रुपए का डीडी भेजा। गांव की ग्रामीण डाक सेवक (जीडीएस) मोहनी देवी को यह डाक 17 अगस्त को मिल गई, लेकिन इसकी डिलिवरी करीब चार महीने बाद 23 दिसंबर को की गई। डाकिए का जिम्मा भले ही मोहनी देवी के पास हो, लेकिन  गांव में डाक वितरण का कार्य उनका पुत्र हनुमानराम पंचारिया करता है।



ग्राम सेवक के भरोसे में खाया धोखा

मैंने डाक के बारे में ग्राम सेवक को बताया था। उसने कहा कि वह आकर ले जाएगा। मैं उसके विश्वास में धोखा गया। वैसे पंचायत अन्य डाक वितरित की हैं।

हनुमानराम पंचारिया, डाकिया

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned