हाईकोर्ट ने मांगी जोधपुर के इंजीनियरिंग कॉलेज की निरीक्षण रिपोर्ट...

Jodhpur, Rajasthan, India
हाईकोर्ट ने मांगी जोधपुर के इंजीनियरिंग कॉलेज की निरीक्षण रिपोर्ट...

राजस्थान उच्च न्यायालय में मंगलवार को मुख्य न्यायाधीश प्रदीप नंद्राजोग व न्यायाधीश रामचंद्रसिंह झाला की खण्डपीठ में एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज में शिक्षा की गुणवत्ता व इन्फ्रास्ट्रक्चर सहित विभिन्न सुविधाओं की बहाली को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई हुई।

राजस्थान उच्च न्यायालय में मंगलवार को मुख्य न्यायाधीश प्रदीप नंद्राजोग व न्यायाधीश रामचंद्रसिंह झाला की खण्डपीठ में एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज में शिक्षा की गुणवत्ता व इन्फ्रास्ट्रक्चर सहित विभिन्न सुविधाओं की बहाली को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई हुई। 


याचिका कॉलेज के ही पूर्व छात्र रहे इंजीनियर्स की एल्युमिनी एसोसिएशन की ओर से ही दायर की गई है। सुनवाई के दौरान ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ टेक्निकल एजुकेशन एआईसीटीई की ओर से बताया गया कि कोर्ट के आदेशों की पालना में एमबीएम कॉलेज का निरीक्षण कर लिया गया है। इस पर खंडपीठ ने काउंसिल के अधिवक्ता से शपथ पत्र के साथ अगली सुनवाई से पहले निरीक्षण रिपोर्ट पेश करने के लिए कहा। 


साथ में कॉलेज की पेरेंटल यूनिवर्सिटी जेएनवीयू की ओर से अतिरिक्त महाधिवक्ता पीआर सिंह और सहयोगी दिनेश ओझा ने प्रगति रिपोर्ट पेश करते हुए बताया कि कॉलेज में इंजीनियरिंग व आर्किटैक्चर की फैकल्टी की खातिर 34 शिक्षकों की भर्ती के लिए विज्ञापन जारी कर दिया गया है। इसके तहत सोमवार को परीक्षा ली गई थी। इस पर खंडपीठ ने एआईसीटी की निरीक्षण रिपोर्ट व शिक्षक भर्ती प्रक्रिया की पालना रिपोर्ट पेश करने के लिए 21 अगस्त को अगली सुनवाई की तारीख तय की। खंडपीठ में राज्य सरकार की ओर से अतिरिक्त महाधिवक्ता राजेश पंवार, जेएनवीयू की ओर से अतिरिक्त महाधिवक्ता पीआर सिंह व काउंसिल की ओर से मल्लीराम पारीक ने पैरवी की। जबकि याचिकाकर्ताओं एल्युमिनी एसोसिएशन की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता मगराज सिंघवी व अधिवक्ता हुकुमसिंह ने पैरवी की।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned