जोधपुर व आस-पास के क्षेत्रों में तालाबों को पर्यटन से जोडऩे पर हो काम: जलदाय मंत्री

Jodhpur, Rajasthan, India
जोधपुर व आस-पास के क्षेत्रों में तालाबों को पर्यटन से जोडऩे पर हो काम: जलदाय मंत्री

जोधपुर संभाग के 445 गांवों को दूसरे चरण के जल स्वावलंबन अभियान में शामिल किया गया है।

जोधपुर संभाग के 445 गांवों को दूसरे चरण के जल स्वावलंबन अभियान में शामिल किया गया है। इस अभियान के तहत धार्मिक संस्थानों, ट्रस्ट व अन्य स्वयंसेवी संस्थानों को परंपरागत जल स्रोतों का विकास करके उनको पानी के संग्रहण के उपयोग में लेना होगा। ये बात जलदाय मंत्री किरण माहेश्वरी ने जोधपुर में आयोजित बैठक में कही। बैठक में जोधपुर संभाग के 42 धार्मिक ट्रस्टों के प्रतिनिधि शामिल हुए। अधिकांश प्रतिनिधियों ने तालाब, नाडी, गोचर, अंगोर सहित अन्य सरकारी जमीन पर अतिक्रमण का मामला उठाया। 

READ MORE: घरेलू गैस लेकर जा रही ट्रेन के टैंकर में रिसाव, पांच घंटे दहशत में रहे ग्रामीण, नहीं जला चूल्हा

इस पर जलदाय मंत्री ने संभागीय आयुक्त रतन लाहोटी को अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई करने के लिए कहा बैठक में बताया गया कि जोधपुर सहित आसपास के क्षेत्रों में तालाबों को पर्यटन से जोडऩे पर काम किया जाए। साथी पूरे प्रदेश में 4500 गांवों को इस अभियान में शामिल किया गया है। इस गांव में जल स्वावलंबन अभियान के तहत नए जलाशय बनाए जाएं व इसे जन आंदोलन के रूप में लिया जाए। 

बैठक में विधायक कैलाश भंसाली, लूणी विधायक जोगाराम पटेल, जिला प्रमुख पूनाराम चौधरी, बीज निगम केअध्यक्ष शंभू सिंह खेतासर,  महापौर घनश्याम ओझा, भाजपा जिलाध्यक्ष देवेंद्र जोशी सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी और जन प्रतिनिधि शामिल थे।  बैठक में नागाणा ट्रस्ट, शीतला माता ट्रस्ट, महाराजा हमीर सिंह ट्रस्ट, खेतेश्वर ट्रस्ट, मेहरानगढ़ म्यूजियम ट्रस्ट सहित अन्य ट्रस्टों के पदाधिकारियों ने भाग लिया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned