video: दलितों के मसीहा थे अम्बेडकर

Kota, Rajasthan, India
video: दलितों के मसीहा थे अम्बेडकर

शहर में संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर की 126वीं जन्मजयंती हर्षोल्लास से मनाई गई। कहीं संगोष्ठी हुईं, तो कहीं पर रक्तदान शिविर लगे। दोपहर तक जनप्रतिनिधियों व सामाजिक संगठनों की ओर से प्रतिमा पर माल्यार्पण का दौर चला।

शहर में संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर की 126वीं जन्मजयंती हर्षोल्लास से मनाई गई। कहीं संगोष्ठी हुईं, तो कहीं पर रक्तदान शिविर लगे। दोपहर तक जनप्रतिनिधियों व सामाजिक संगठनों की ओर से प्रतिमा पर माल्यार्पण का दौर चला।


मुख्य आयोजन भाजपा एससी मोर्चा की ओर से नयापुरा स्थित अम्बेडकर सर्किल के पास समारोह आयोजित किया गया। समारोह में सांसद ओम बिरला ने कहा कि सबका साथ-सबका विकास की भावना के साथ अम्बेडकर के सिद्धांतों को आत्मसात कर सशक्त भारत बनाने की दिशा में कदम बढ़ाने का संकल्प लें, यही बाबा साहब को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।





बिरला ने डिजीटल लेन-देन को बढ़ावा देने के लिए भीम एप डाउनलोड करने का आह्वान किया। विधायक चन्द्रकांता मेघवाल ने कहा कि अम्बेडकर दलितों के मसीहा थे। हीरालाल नागर ने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार की नीतियां सभी वर्गों के कल्याण के लिए कार्य कर रही है। संदीप शर्मा ने कहा कि बाबा साहब ने समाज के हर पीडि़त, शोषित वर्ग के अधिकारों के लिए संघर्ष कर उन्हें हक दिलवाया है।





 न्यास अध्यक्ष रामकुमार मेहता ने नए कोटा क्षेत्र में बाबा साहेब की प्रतिमा लगाने की बात कही। मंच पर विधायक प्रहलाद गुंजल, महापौर महेश विजय, शहर अध्यक्ष हेमंत विजयवर्गीय, देहात अध्यक्ष जयवीर सिंह, पूर्व महापौर सुमन शृंगी, महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष अनुसुईया गोस्वामी, मोर्चा के जिलाध्यक्ष अशोक बादल, देहात अध्यक्ष धनराज बैरवा, हेमराज सिंह हाड़ा मौजूद रहे। कार्यक्रम के बाद जनप्रतिनिधियों ने अम्बेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned