किसान आंदोलनः जेल चले भाई जेल चले... अब ये दीवाने जेल चले

Kota, Rajasthan, India
किसान आंदोलनः जेल चले भाई जेल चले... अब ये दीवाने जेल चले

मंदसौर के बाद अब किसान आंदोलन की आग हाड़ौती में भी फैलने लगी है। अपनी मांगे मनवाने के लिए कोटा में महापड़ाव पर बैठे किसानों ने सोमवार को गिरफ्तारी दी। इसके बाद किसान संगठनों ने आंदोलन की आग गांव-गांव तक फैलाने की चेतावनी दी है।

हाड़ौती में चल रहे किसान महापड़ाव को सोमवार को भारतीय किसान संघ के पदाधिकारियों ने तेज कर दिया। संघ के पदाधिकारियों, किसानों सहित 30 जनों ने संभागीय आयुक्त कार्यालय पर प्रदर्शन कर गिरफ्तारियां दी। साथ ही, आंदोलन को अब गांव-गांव शुरू करने का आह्वान किया।



जिलाध्यक्ष गुमानीशंकर धाकड़ ने बताया कि संघ की प्रदेश कार्यसमिति के आह्वान पर किसान आंदोलन तेज किया जाएगा। अब ग्राम से संग्राम कार्यक्रम हाथ में लिया है। इससे पहले मानव विकास भवन में हुई संभाग स्तरीय बैठक में निर्णय किया गया कि आंदोलन के तहत 23 व 24 जून को संभाग की सभी मंडियों को बंद रखा जाएगा। बाद में गांव बंद कराए जाएंगे। कस्बे, नगर बंद कराए जाएंगे। मंत्रियों, विधायकों का घेराव किया जाएगा।



Read more: OMG! असली कामसूत्र चुराकर अंग्रेजों ने हासिल की थी ये 'महाशक्ति'



अन्नदाता ने दी गिरफ्तारी 

 शाम को संघ के संभाग स्तरीय पदाधिकारियों व किसानों सहित 30 जनों ने गिरफ्तारियां दी। गिरफ्तारियां देने वालों में संघ की जिला महिला प्रमुख भारती नागर, प्रांतीय अध्यक्ष मोहनलाल नागर, महापड़ाव संयोजक शंकरलाल नागर, बूंदी प्रभारी जगदीश कलमंडा, बारां से अमृत छजावा, कोटा से प्रेमशंकर धाकड़, गेहूंखेड़ी से रमेश नागर आदि किसान शामिल थे। इससे पूर्व किसानों के प्रतिनिधिमंडल ने अतिरिक्त संभागीय आयुक्त प्रियंका गोस्वामी को ज्ञापन सौंपा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned