जब कलक्टर पहुंचे अन्नपूर्णा रसोई पर खाना खाने...

Kota, Rajasthan, India
जब कलक्टर पहुंचे अन्नपूर्णा रसोई पर खाना खाने...

गरीब और बेसहारा लोगों को सस्ता खाना मुहिया करवा रही अन्नपूर्णा रसोई वैन के कर्मचारी यह देखकर हैरत में पड़ गए कि कोटा के कलक्टर उनसे खाना मांग रहे हैं। कलक्टर ने पहले उनसे मेन्यू पूछा और फिर दाल-सब्जी खिलाने को कहा। खाने की गुणवत्ता जांचने के लिए उन्होंने सभी चीजों की खुद चखकर जांच की।

कोटा के जिला कलक्टर रोहित गुप्ता मंगलवार को जेके लॉन हॉस्पीटल की व्यवस्थाओं का जायजा लेने पहुंचे थे। निरीक्षण के दौरान अचानक उन्हें अस्पताल परिसर में खड़ी अन्नपूर्णा योजना की वैन दिख गई। फिर क्या था कलक्टर सीधे वहां जा पहुंचे और खाना खिलाने को कहा। वैन पर तैनात कर्मचारी थोड़े हिचके लेकिन खाने की गुणवत्ता से संतुष्ट होने के बाद जब उन्हें कलक्टर के चेहरे पर खुशी दिखी तो जान में जान आई। 





जिला कलक्टर ने सबसे पहले दाल-सब्जी चखी। इसके बाद उन्होंने वैन में मौजूद सभी तरह की डिस चखी। उन्होंने वैन पर मौजूद कर्मचारियों से पूछा कि लोग क्या चीज खाना ज्यादा पसंद करते हैं ?  मेन्यू कौन डिसाइड करता है। जाते-जाते उन्होंने चटनी की तारीख की तो सभी लोग खुश हो गए। कलक्टर को अन्नपूर्णा रसोई पर खाना खाता देख अस्पताल में मौजूद स्टाफ और लोग हैरत में पड़ गए। कलक्टर के साथ-साथ जेके लोन अधीक्षक डॉ. आरके गुलाटी और मेडिकल कॉलेज के कार्यवाहक प्राचार्य डॉ. विजय सरदाना ने भी अन्नपूर्णा रसोई का खाना चखा। 



Read More: दफ्तरों में गंदगी और कबाड़ देखकर बिफरे कलक्टर



छुट्टी पर डॉक्टरों की सूचना बोर्ड पर लगाओ 

निरीक्षण के दौरान एडीएम सिटी ने जिला कलक्टर को बताया कि डॉक्टर के छुट्टी पर होने पर भी मरीज उनको तलाशते हैं। स्टाफ को भी पता नहीं होता है कि डॉक्टर आएंगे या नहीं। इस पर कलक्टर ने प्राचार्य को निर्देश दिए कि जो डॉक्टर छुट्टी पर जाए उनकी सूचना चिकित्सकों के नाम के आगे बाहर बोर्ड पर प्रदर्शित करवाई जाए, ताकि मरीजों और तीमारदारों को भटकना ना पड़े। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned