विधायक समर्थकों ने महिलाओं को पीटा, वीडियो हुआ वायरल

Kota, Rajasthan, India
विधायक समर्थकों ने महिलाओं को पीटा, वीडियो हुआ वायरल

स्टेशन क्षेत्र की महिलाओं ने कोटा के एसपी सिटी को शिकायत दी है कि समस्या के समधान के लिए विधायक से मिलने पहुंची थीं, लेकिन उनके समर्थकों ने उनसे मारपीट कर भगा दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। घटना से जुड़ा एक वीडियो भी वाइरल हो रहा है जिसमें विधायक समर्थक महिला को पीट रहे हैं।

स्टेशन क्षेत्र की पुरोहितजी की टापरी स्थित सरकारी स्कूल में रविवार मदर्स डे पर कार्यक्रम आयोजित हो रहा था। इसमें विधायक प्रहलाद गुंजल भी पहुंचे। इस दौरान क्षेत्र की कुछ महिलाएं अपनी शिकायत लेकर आईं। वे मांग को लेकर विधायक की गाड़ी के सामने आ गईं। इस दौरान कुछ लोगों ने भाजपा विरोधी के नारे भी लगाए। इनको विधायक के कार्यकर्ताओं ने हटाया।मौके पर मौजूद पार्षद रमेश चौबे ने महिला के बेटे विजय को हटाते हुए मारपीट भी की है। इन महिलाओं ने विधायक गुंजल के समर्थकों पर मारपीट का आरोप लगाया है।





मारपीट के मामले की शिकायत एसपी से करने पहुंची रूप बाई व उनकी बेटी भावना ने विधायक समर्थकों के खिलाफ मारपीट व छेड़छाड़ की शिकायत दी हैं। शिकायत में रूपबाई ने बताया कि वह पेंशन व बीपीएल के मामले में विधायक गुंजल से मिलने गई थी। उन्होंने मेरी बात नहीं सुनी। इसके बाद विधायक के कार्यकर्ता पार्षद रमेश चौबे, बाबूलाल लोधा, देवीशंकर गुर्जर मेरी बेटी से मारपीट करने लगे। मैं बचाने गई, तो उन लोगों ने हम दोनों के साथ छेड़खानी व मारपीट की। विरोध करने पर जातिसूचक शब्दों से अपमानित किया। शिकायत लेकर रेलवे कॉलोनी थाने गए तो सीआई जोधराज गुर्जर ने रिपोर्ट लेने से मना कर दिया।





राठौड़ी कर जमीन हड़प रहे

घटनास्थल के वीडियो में महिला का बेटा विजय जमीन पर कब्जे करने की बात बोल रहा हैं। वह कह रहा है कि जमीन पर राठौड़ी कर कब्जा करवा रहे हैं। 35 से 40 साल से गेहंू करवा रहे हैं। तभी तो खुदा पड़ा है। पांच दिन की मोहलत देने के बाद रात को बाड़ा तोड़ दिया और मोटर भी निकाल कर ले गए। मेरी जमीन क्यों खाली करवा रहे हो, दुनिया की खाली करवाओ। उसके बाद खाली कर देंगे। इसी टेंशन में मेरा बाप चला गया। अब इनकी सरकार आ गई तो इनके दांव पेंच बढ़ गए हैं।


नहीं की मारपीट 

रेलवे कॉलोनी थाने के सीआई जोधाराम गुर्जर ने कहा कि विधायक के कार्यक्रम में तालाब की पाल से हटाए अतिक्रमण का विरोध करने पहुंची थी। मारपीट जैसा कुछ नहीं हुआ। थाने पर कोई महिला रिपोर्ट या शिकायत देने नहीं आई। वहीं विधायक प्रहलाद गुंजल ने बताया  कि यूआईटी की ओर से अतिक्रमण हटाने का विरोध हुआ था। कार्यकर्ताओं ने वाहन के सामने से महिलाओं हटाया था। किसी तरह की मारपीट नहीं की हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned