OMG! स्मैक पीने की उठती थी तलब तो चुरा लेते थे बाइक

Kota, Rajasthan, India
OMG! स्मैक पीने की उठती थी तलब तो चुरा लेते थे बाइक

शौक भी बड़ी अजीब चीज है... इसे पूरा करने के लिए लोग चोरी करने तक से बाज नहीं आते... हद तो तब हो जाती है जब इसकी लत लोगों को अपराधी बना देती है... कोटा पुलिस ने भी ऐसे दो चोर गिरफ्तार किए हैं... जो सिर्फ स्मैक के नशा करना करने के लिए लोगों की बाइक चुराते थे

नयापुरा थाना पुलिस ने सोमवार को नशेड़ी बाइक चोरों के गिरोह का पर्दाफाश किया। यह बाइक चोर स्मैक खरीदने के लिए बाइक चुराते थे। पकड़े गए चोरों से चोरी की चार बाइक भी बरामद की है। साथ ही दोनों आरोपितों को सोमवार को कोर्ट पेश किया, जहां से जेल भेज दिया गया। 





सोमवार की सुबह नयापुरा थाने की पुलिस उम्मेद क्लब के पास वाहनों की जांच करने में जुटी थी। एएसआई राजेन्द्र चैधरी ने बताया कि वहां से गुजर रहे बारां जिले के छीपाबड़ौद तहसील के गांगड़ी गांव निवासी राजेन्द्र बैरवा और जोधराज मीणा को रोक कर उनसे गाड़ी के कागज मांगे तो वह ठिठक गए। बाइक और उनके बारे में जानकारी मांगने पर कोई जवाब नहीं दे पाएं। ऐसे में उन्हें थाने में लाकर पूछताछ की। जांच में चौंकाने वाला खुलासा हुआ कि दोनों लोगों के पास मिली बाइक थाने के ही रामदेव मंदिर के पास से 8 जून को चोरी हुई थी।



Read More: सावधान! भगवान हो गए हैं बीमार, अब 11 दिन बाद सुनेंगे गुहार



सख्ती हुई तो उगले राज 

जब इन लोगों से पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो पता चला कि दोनों ने नयापुरा थाना क्षेत्र से ही चार बाइक चुराई थीं। चोरी के बाद यह बाइक की नंबर प्लेट हटाकर एमबीएस हॉस्पीटल के साइकिल स्टेंड पर खड़ी कर आते थे। पुलिस ने स्टेंड पर छापा मारकर चोरी की तीनों बाइकें जब्त कर लीं। 



Read more: तुर्की से कोटा आई खुशियों की जुलेहा



बाइक बेचकर खरीदते थे स्मैक 

एएसआई चैधरी ने बताया कि स्मैक के पीने के लिए दोनों कई सालों से बाइक चुरा रहे है। जोधराज के खिलाफ बारां जिले में मुकदमें भी दर्ज है। ये बाइक चुराकर मध्यप्रदेश में चार से पांच हजार में बेच देते थे। उस पैसे का उपयोग स्मैक खरीदने के लिए करते थे। पैसा खत्म होते ही दुबारा बाइक चुरा लेते थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned