video: नहीं बिकेगा कोटा थर्मल, इकाइयां भी नहीं होंगी बंद

Kota, Rajasthan, India
video: नहीं बिकेगा कोटा थर्मल, इकाइयां भी नहीं होंगी बंद

राजस्थान पत्रिका की ओर से करीब डेढ़ माह से कोटा थर्मल बचाओ अभियान के तहत लगातार समाचार प्रकाशित कर राज्य सरकार की मंशा, शहर की जनता, थर्मल के अभियंताओं, कर्मचारियों व श्रमिकों की पीड़ा को उजागर करने के बाद आखिरकार सरकार को कोटा थर्मल को लेकर की जा रही अपनी तैयारियों से पीछे हटना पड़ा।

कोटा थर्मल की प्रथम चार इकाइयों को स्थाई रूप से बंद करने तथा शेष इकाइयों को निजी हाथों में देने की तैयारियों से राज्य सरकार ने अब हाथ खींच लिए हैं। राजस्थान पत्रिका की ओर से करीब डेढ़ माह से कोटा थर्मल बचाओ अभियान के तहत लगातार समाचार प्रकाशित कर राज्य सरकार की मंशा, शहर की जनता, थर्मल के अभियंताओं, कर्मचारियों व श्रमिकों की पीड़ा को उजागर करने के बाद आखिरकार सरकार को कोटा थर्मल को लेकर की जा रही अपनी तैयारियों से पीछे हटना पड़ा।



राज्य सरकार के ऊर्जा सचिव संजय मल्होत्रा सोमवार को एक दिवसीय प्रवास पर कोटा आए। पत्रिका ने थर्मल कॉलोनी स्थित इरेक्टर्स हॉस्टल में उनसे विशेष बातचीत की। मल्होत्रा ने कहा कि राज्य सरकार का कोटा थर्मल को बेचने या इसकी चार इकाइयों को स्थाई रूप से बंद करने का कोई इरादा नहीं है। जब मल्होत्रा से सवाल किया कि अभियंताओं, कर्मचारियों व श्रमिकों को आशंका है कि राज्य सरकार उन्हें मौखिक आश्वासन देकर गुमराह कर रही है। 





सरकार अंदर ही अंदर प्लांट की चार इकाइयों को स्थाई रूप से बंद कर शेष इकाइयों को निजी हाथों में देने की तैयारी कर रही है। कर्मचारी, अभियंता व श्रमिक इसी आशंका के चलते अपने काम पर ध्यान नहीं दे पा रहे। रोजाना धरने-प्रदर्शन, वाहन रैलियां व कैण्डल मार्च निकाल रहे हैं। यदि राज्य सरकार की मंशा साफ है तो सरकार इस बारे में लिखित में आश्वस्त करे कि कोटा थर्मल की चार इकाइयों को बंद नहीं करेगी तथा इस बिजलीघर को निजी हाथों में भी नहीं सौंपा जाएगा। 





लिखित आश्वासन देने को तैयार 


इसके बाद मल्होत्रा ने आश्वस्त किया कि यदि कोटा थर्मल के अभियंता, कर्मचारी व श्रमिक इस बारे में राज्य सरकार से लिखित में लेना चाहते हैं तो वे लिखित में भी देने को तैयार हैं। इसके बाद अभियंता, कर्मचारी व श्रमिक आंदोलन समाप्त कर देते हैं तो यह आरवीयूएनएल, राज्य सरकार व थर्मलकर्मियों सभी के लिए अच्छा है।इसके बाद कोटा थर्मल बचाओ संघर्ष समिति के पदाधिकारियों को मल्होत्रा ने वार्ता करने के लिए मंगलवार को जयपुर आमंत्रित किया। हालांकि सोमवार को भी थर्मल कर्मचारियों का प्रदर्शन जारी रहा। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned