कॉलोनी में भरा बरसाती पानी निकलवाने के लिए न्यास अध्यक्ष से भिड़े पार्षद

Kota, Rajasthan, India
कॉलोनी में भरा बरसाती पानी निकलवाने के लिए न्यास अध्यक्ष से भिड़े पार्षद

जरा सी बारिश में शहर के नाले उफान पर हैं। नालों से निकलकर गंदा पानी कॉलोनियों में घुस रहा है, लेकिन यूआईटी और निगम के अधिकारी सबकुछ ठीक बात रहे हैं। ऐसी ही समस्या से परेशान दुर्गा नगर के आक्रोशित लोगों ने न्यास कार्यालय में प्रदर्शन किया। इस दौरान स्थानीय पार्षद व न्यास अध्यक्ष में बहसबाजी भी हुई।

नांता रोड स्थित दुर्गा नगर कॉलोनी में बिन बारिश पिछले एक माह से भरे पानी भरा हुआ। यूआईटी और नगर निगम के चक्कर काटकर परेशान हो चुके लोगों का गुस्सा सोमवार को भड़ गया और उन्होंने स्थानीय पार्षद अनिल सुवालका के साथ यूआईटी दफ्तर में जमकर प्रदर्शन किया। 





लोग न्यास अध्यक्ष से मिलना चाहते थे, लेकिन सुरक्षा कर्मियों ने न्यास भवन का मुख्य गेट बंद कर दिया, इससे लोग आक्रोशित हो गए। महिलाएं गेट को धकेलते हुए अंदर घुस गई, अन्य लोग भी न्यास अध्यक्ष के कक्ष के बाहर तक पहुंच गए। वहां पहले से मौजूद सुरक्षा कर्मियों ने लोगों को बाहर निकालने की कोशिश की तो पार्षद सुवालका आक्रोशित हो गए और सुरक्षा कर्मियों को हटाते हुए यूआईटी चेयरमैन के दफ्तर में जा घुसे। 



Read More: कोटा राजकीय महाविद्यालय में छात्रों ने पलटी प्राचार्य की मेज, पुलिस ने बरसाई लाठियां



यूआईटी चेयरमैन भड़के 

इस तरह लोगों को अंदर आया देख न्यास अध्यक्ष रामकुमार मेहता नाराज हो गए और उन्होंने अंदर आने पर एतराज जताया। लोगों का कहना था कि कॉलोनी में वे कैसे रह रहे हैं, वही जानते हैं, परिवार में कोई न कोई बीमार पड़ा है। स्थानीय विधायक व न्यास अधिकारियों को कई बार समस्या बताई, लेकिन समाधान नहीं हो रहा। सुवालका ने मेहता से कहा कि स्थानीय विधायक कोटा उत्तर में विकास की गंगा बहाने का दावा कर रहे हैं, लेकिन लोग गंदे पानी से घिरे हुए बीमारियों के बीच जी रहे हैं।



Read More: #On_the_spot: हल्की बारिश ने ही खोल दी नालों की सफाई की पोल



धारीवाल तो मंत्री थे, कर सकते थे

न्यास अध्यक्ष मेहता ने न्यास की ओर से अनुमोदित कृषि भूमि पर बसी कॉलोनियों में पट्टे के लिए उस कॉलोनी के लोगों की ओर से जमा राशि का 40 फीसदी ही खर्च कर पाने की मजबूरी बताते हुए कहा कि इस राशि से अधिक न्यास वहां खर्च कर चुका है। अब किसी विशेष योजना के तहत ही खर्च किया जा सकता है। लोगों का कहना था कि पूर्व कांग्रेस सरकार में स्थानीय विधायक शांति धारीवाल ने इसी कॉलोनी में एक करोड़ का काम करवा दिया था। इस पर मेहता ने कहा कि वो मंत्री थे, सब कर सकते थे, हम वैसा नहीं कर सकते, लेकिन फिर भी समस्या का समाधान किया जाएगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned