#Weather_News: पानी ने मचाया कोहराम, किया कोटावासियों को अपने ही घर में कैद

Kota, Rajasthan, India
#Weather_News: पानी ने मचाया कोहराम, किया कोटावासियों को अपने ही घर में कैद

जवाहर नगर, कोटा में हर वर्ष सड़कों पर नालों के उफान का पानी भरता है। हल्की बारिश में ही पानी अचानक आ जाता है और कुछ ही देर में इतना पानी हो जाता है कि लोगों का बाहर निकलना तक दूभर हो जाता है। शनिवार देर शाम भी यही हुआ। करीब 7.30 बजे अचानक नाला उफन गया। मुख्य सड़क पर करीब चार-चार फीट पानी भर गया।

जवाहर नगर में हर वर्ष सड़कों पर नालों के उफान का पानी भरता है। हल्की बारिश में ही पानी अचानक आ जाता है और कुछ ही देर में इतना पानी हो जाता है कि लोगों का बाहर निकलना तक दूभर हो जाता है। मुख्य सड़क तो डिवाइडर तक डूब जाती है और गलियों में पानी दौडऩे लगता है। शनिवार देर शाम भी यही हुआ। करीब 7.30 बजे अचानक नाला उफन गया। नाले का पानी सड़कों पर आ गया और जवाहर नगर में पेट्राल पंप से लेकर हवाई अड्डे की पिछली दीवार तक सड़क पर पानी ही पानी हो गया। इस मुख्य सड़क पर करीब चार-चार फीट पानी भर गया। कई घरों में पानी घुसने से घरेलू सामान भी भीग गए। 



Read More: #Weather_News: दोपहर तक बरसी राहत की बूंदें



दिनभर शहर में मौसम साफ रहने के बाद कुछ देर शाम को हुई बारिश में ही अचानक सड़कों व घरों में पानी आया तो लोगों में हड़कम्प मच गया। पानी का प्रवाह काफी तेज होने से लोगों का सड़क पार करना भी मुश्किल हो गया। यहां बड़ी संख्या में कोचिंग विद्यार्थी रहते हैं। थोड़ी सी बारिश में ही अचानक नाले में उफान और जलमग्न सड़कों को देख विद्यार्थी सकते में आ गए। इधर लोग भी घरों में पानी नहीं भरे, इसके लिए प्रयत्न करते रहे। कई लोगों ने नगर विकास न्यास, नगर निगम तथा जिला प्रशासन के खिलाफ आक्रोश जताया। 



Read More: Weather_News: छाए रहे बादल, बरसी राहत की बूंदें



आए जनप्रतिनिधि-अधिकारी

सूचना मिलने पर विधायक संदीप शर्मा, महापौर महेश विजय तथा नगर निगम व नगर विकास न्यास के अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने लोगों का आश्वस्त किया कि इस समस्या से स्थाई रूप से निपटने के लिए हर संभव उपाय किए जाएंगे। रविवार को वे स्वयं निगम के अधिकारियों व सफाई संसाधनों के साथ यहां का दौरा कर इस समस्या के त्वरित हल के लिए प्रयास करेंगे। विधायक संदीप शर्मा ने कहा कि आला उदल पार्क के पास से नाले को डायवर्ट करने का कार्य किया जाएगा, बरसात के बाद यह काम शुरू हो जाएगा। 



Read More: कोटा में तेजी से फैल रहा डेंगू, क्या आपने कूलर साफ कर लिया है...



हर बार की तरह आश्वासन

जवाहर नगर में यह समस्या नई नहीं है। करीब पांच साल से लोग इसी समस्या को झेल रहे हैं। वर्ष 2015 में भी यहां यहीं हाल हुआ था। इसके बाद न्यास, निगम व पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों की सांसद ओम बिरला ने जवाहर नगर में ही बैठक ली थी। उसमें बालाकुण्ड की तरफ नाला बनाना तय हुआ था। ताकि पानी को डायवर्ट किया जा सके। इसके साथ ही नाले में हो रहे अतिक्रमणों को हटाने के लिए न्यास व निगम के अधिकारियों ने बडे-बड़े वादे भी किए थे, लेकिन कुछ नहीं हुआ। निगम जवाहर नगर के मुख्य नाले की बरसात से पहले सफाई तक नहीं करा सका। 



Read More: #Picnicspot: भंवरकुंज में आया उफान, सुरक्षा के नहीं हैं कोई इंतजाम



महापौर से सवाल-जवाब

1. जवाहर नगर में पानी कैसे आया, जबकि इतनी बारिश भी नहीं हुई ?

महापौर: यह पानी पठारी क्षेत्र का है, उधर तेज बारिश हुई होगी, इसलिए नाले में पानी आ गया।

2. लोगों का कहना है कि नालों की सफाई नहीं हुई ?

महापौर: एेसा नहीं है, निगम की ओर से नालों की सफाई हुई है। जवाहर नगर नाले की भी हुई है, हमने देखा है अभी भी    मोखे फुल चल रहे हैं।

3. फिर समस्या क्यों हुई, स्थाई समाधान पहले नहीं हुए ?

महापौर: नाले में अतिक्रमण है और इतनी संख्या में है कि इन्हें हटाया जाना इतना आसान नहीं है। फिर बारिश काफी तेज हुई आगे, इसलिए एेसा हुआ।

4. न्यास को यहां नाला बनाना था, उसका क्या रहा ?

महापौर: न्यास की ओर से नाले का निर्माण करवा दिया गया, लेकिन इसकी चौड़ाई 5 फीट ही है।

4. अब स्थाई समाधान के लिए क्या करेंगे ?

महापौर: न्यास द्वारा यहां एक और नाला बनाया जाएगा, न्यास अध्यक्ष ने इसकी घोषणा भी कर दी है।

5. त्वरित समाधान के लिए क्या करेंगे ?

महापौर: रविवार को अधिकारियों के साथ दौरा करेंगे, नालों व मोखों की सफाई करवाएंगे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned