नाबालिग बालिका को बेचने आए थे

babulal tak

Publish: May, 20 2017 12:11:00 (IST)

Ladnun, Rajasthan, India
नाबालिग बालिका को बेचने आए थे

शादी करवाने के नाम पर ठगी करने के आरोपितों को किया न्यायालय में पेश

गांव गैनाणा के निकट हाइवे रोड पर स्थित एक होटल में शादी करवाने के नाम पर ठगी करने के लिए रुके आरोपित यहां एक नाबालिका बालिका को बेचने के लिए आए थे, लेकिन मुखबिर की सूचना पर पुलिस के मौके पर पहुंचने के कारण वे अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो पाए। पुलिस को देखकर एक बार आरोपितों ने भागने का प्रयास भी किया, लेकिन पुलिस ने उनको घेराबंदी कर पकड़ लिया। थानाधिकारी भजन लाल ने बताया कि गिरफ्तार पंजाब के  निवासी कशमिरा, राज उर्फ राजविन्द्र कौर, नागौर निवासी शंकर बणजारा तथा पूजा, पंजाब निवासी प्रवीण, चिड़ावा निवासी ज्योति, पंजाब निवासी सुनीता,  रंजिश को गिरफ्तार किया गया है।

पेशी पर जा रहे दो बंदी पुलिस को चकमा देकर हुए फरार


इनके साथ एक नाबालिग बालिका भी थी। आरोपितों को शुक्रवार को डीडवाना न्यायालय में पेश किया गया। जहां से शंकर व कशमिरा को एक दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। वहीं सभी महिला आरोपितों को जेल भेज दिया गया। थानाधिकारी ने बताया कि नाबालिग बालिका को बाल कल्याण समिति नागौर को सुपुर्द किया जाएगा। पुलिस ने सभी आरोपितों के खिलाफ मानव तस्करी का मामला दर्जकर जांच शुरू कर दी है। गौरतलब है कि सभी आरोपित गुरुवार को गैनाणा के निकट हाइवे रोड पर स्थित एक होटल में रुके हुए थे। पुलिस ने आरोपितों को गुरुवार को गिरफ्तार किया था।
थानाधिकारी भजन लाल ने बताया कि जिस बालिका को गिरोह यहां पर बेचने के लिए लाया था उसके अपहरण का मामला पंजाब के मोखमपुरा थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज है। इसकी सूचना वहां के पुलिस थाने में दी गई है।
इस संबंध में बाकलिया निवासी रामूराम जाट ने आरोपितों के खिलाफ पुलिस को रिपोर्ट दी है। उसने बताया कि आरोपित उसे नाबालिग लडक़ी सौंपने की एवज में डेढ़ लाख रुपए की मांग की, लेकिन उसने यह कहते हुए इनकार कर दिया कि वह शादी के लिए पैसे देकर लड़कियां नहीं लेता है। थानाधिकारी ने बताया कि गिरोह के सभी आरोपित कशमीरा के नेतृत्व में वारदात को अंजाम देते थे। कशमीरा नागौर जिले के पालड़ी पिचकिया निवासी शंकर बणजारा उर्फ घेवरराम के सम्पर्क में था। ये यहां पर ग्राहक को तलाश कर इसकी जानकारी कशमीरा को देते थे। इन्होंने ही इनको यहां बुलवाया था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned