संतों का हुआ शहर में मंगलप्रवेश

rajesh dixit

Publish: Jun, 20 2017 06:55:00 (IST)

Pratapgarh, Rajasthan, India
संतों का हुआ शहर में मंगलप्रवेश

प्रतापगढ़ जैन मुनिराज पीयूषचंद्र विजय एवं मुनि राजश्री प्रीतियश विजय का प्रतापगढ़ में मंगल प्रवेश मंगलवार को हुआ।

प्रतापगढ़  जैन मुनिराज पीयूषचंद्र विजय एवं मुनि राजश्री प्रीतियश विजय का प्रतापगढ़ में मंगल प्रवेश मंगलवार को हुआ।
इस मौके पर श्रद्धालुओं ने मुनियों की अगवानी की।
मुनियों को शोभायात्रा के साथ हाई स्कूल के जिनिंग फैक्ट्री से बस स्टैंड पर लाया गया। जहां निज मंदिर में मुनिश्री एवं सकल संघ ने भगवान मुनिसुव्रत दादा के दर्शन किए। प्रवेश जुलूस गांधी चौराहा, सदर बाजार, निचला बाजार होते हुए गुमानजी मंदिर पहुंचा। रास्ते में जगह-जगह गवली कर मुनिराजश्री का स्वागत किया गया। गुमानजी मंदिर में धर्मसभा हुई। जिसमें मुनिराज पीयूषचंद्र विजयजी मसा ने कहा कि आज व्यक्ति का मन दूषित हो गया है। इसी कारण परिवार में प्रेम कम हो गया। जैसा व्यक्ति खाता अन्न वैसा होता मन, हर व्यक्ति प्राइवेसी चाहता है, इसी कारण परिवार टूट रहे है।भाई-भाई में प्रेम कम हो गया है। एक-दूसरे में सहयोग वृत्ति कम हुई है। प्रेम और सौहार्द अब नहीं रहा। आज व्यक्ति इतना स्वार्थी हो गया है कि वह स्वयं अपने परिवार एवं उसके सदस्यों की ही सोचता है। धन-संपदा तो काफी बड़ी है, किंतु परिवार में शांति कम हुई है, उसका मूल कारण गलत कार्यों से कमाई हुई संपत्ति से कभी शांति नहीं आ सकती। धर्म सभा का संचालन राकेश मारवाड़ी ने किया। इस मौके पर नंदिवर्धन, कांतिलाल, नरेंद्र कुमार, अजीतकुमार सेठिया, गजेंद्र चंडालिया, शुभम चंडालिया, जितेंद्र गांधी, इंद्रमल दलाल, दीपक डोशी, धनपाल हडपावत, सुधीर हडपावत, बाबूलाल जैन, दिनेश सेठिया, राजेंद्र सेठिया, बाबूलाल सेठिया, अशोक ककरेचा, राजेंद्र करणपुरिया, अमित भेरविया, अर्पित कोठारी आदि मौजूद थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned