आखिर...बारिश नही हुई तो ऐसा क्या हुआ देखे

rakesh verma

Publish: Jul, 16 2017 09:05:00 (IST)

Sawai Madhopur, Rajasthan, India
आखिर...बारिश नही हुई तो ऐसा क्या हुआ देखे

आलम यह है कि मलारना डूंगर तहसील क्षेत्र में दीमक अमरूद के पौधों को चट करने लगी है।

मलारना डूंगर. इस वर्ष मानसून बेरुखी से जहां किसान खरीफ की फसल बुवाई में पिछड़ गया। वहीं अब बागवानी पर भी भारी पड़ रही है। आलम यह है कि मलारना डूंगर तहसील क्षेत्र में दीमक अमरूद के पौधों को चट करने लगी है। इससे बागवानी से जुड़े किसान चिंतित नजर आ रहे हैं। 


अमरूदों के अलावा छायादार पौधों पर भी दीमक का असर नजर आने लगा है। यहां मायापुर इलाके में हजारी माली ने गत वर्ष अमरूद के पौधे लगाए थे। इस वर्ष बारिश कम होने से अब पौधे एक-एक कर नष्ट होने लगे हैं। जानकारों का मानना है कि बरसात नहीं होने से दीमक सक्रिय हो गई है व धीरे-धीरे पौधों को नष्ट कर रही है। 


इसी तरह अब्दुल ताहिर ने दो वर्ष पूर्व एक हैक्टेयर से अधिक भूमि में अमरूद के पौधे लगाए थे, लेकिन कुछ दिनों से पौधों के पत्ते पीले पडऩे के साथ ही बड़े पौधे भी सूखने लगे हैं। इलाके में अन्य खेतों में लगे अमरूद के पौधों में ऐसी ही बीमारी नजर आ रही है।


नियमित करें सिंचाई

सहायक कृषि अधिकारी कमलेश मीना का कहना है कि इस वर्ष इलाके में कम वर्षा हुई है। इससे दीमक सक्रिय हो रही है। ऐसे में किसान पौधों में नियमित सिंचाई करें। साथ ही दीमक से बचाने के लिए क्लोरो पाइरीफोस २० ईसी का उपयोग करें।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned