मेले में झलकी गीतों की संस्कृति

abhishek ojha

Publish: May, 18 2017 04:51:00 (IST)

Gangapur City, Rajasthan, India
मेले में झलकी गीतों की संस्कृति

गंगापुरसिटी. खचाखच भरा पांडाल, धार्मिक कथा व रचनाएं सुनते लोग, लोक गीतों की झलकती संस्कृति एवं नृत्य करते ग्रामीण महिला-पुरूष। यही नजारा इन दिनों कल्याणजी मेले में देखने को मिल रहा है, जहां प्रतिदिन विभिन्न कार्यक्रम हो रहे हैं।

गंगापुरसिटी. खचाखच भरा पांडाल, धार्मिक कथा व रचनाएं सुनते लोग, लोक गीतों की झलकती संस्कृति एवं नृत्य करते ग्रामीण महिला-पुरूष। यही नजारा इन दिनों कल्याणजी मेले में देखने को मिल रहा है, जहां प्रतिदिन विभिन्न कार्यक्रम हो रहे हैं। शहर में कल्याणजी का मेला परवान चढऩे लगा है। मेले में बुधवार को महिला रामरसिया दंगल का आयोजन हुआ। इस दौरान शहर सहित क्षेत्रभर से लोगों ने उत्साह से भाग लिया। मेले के आठवें दिन बुधवार को महूकलां मण्डल की गायिका रूपंती सैनी ने गुरु गोरखनाथ की नटकथा सुनाई। राम रसिया मण्डल गीजगढ़ की गायिका पुष्पा सैनी ने राजा मान्थाल की शिव परीक्षा, नौ गांव की राम रसिया मण्डली प्रेमदेवी ने भक्त पूरणमल की कथा सुनाई। मेला संरक्षक राजेश जैमनी ने बताया कि गुरुवार सुबह नौ बजे से राम रसिया कार्यक्रम शुरू होगा। इस दौरान विधायक मानसिंह गुर्जर, मेला अध्यक्ष व नगरपरिषद सभापति संगीता बोहरा, पूर्व सभापति हरिप्रसाद बोहरा, हरिगोविन्द कटारिया, ओमी कटारिया, उपसभापति दीपक सिंहल, कौशल बोहरा, दर्शनङ्क्षसह गुर्जर, वीरू पुजारी, वेदप्रकाश सोनवाल आदि मौजूद थे। मंच संचालन मंजूलाल सैनी ने किया। 


उठा रहे लुत्फ

मेले में ग्रामीण व शहरी परिवेश से आने वाले लोग झूले चकरी से मनोरंजन का लुत्फ उठा रहे है। बच्चे भी अभिभावकों से झूले-चकरी में बैठने को लेकर जिद करते दिखे।  

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned