आखिर कैसे मिले होली चौक पर गंदगी से निजात

rakesh verma

Publish: Jul, 15 2017 09:31:00 (IST)

Sawai Madhopur, Rajasthan, India
आखिर कैसे मिले होली चौक पर गंदगी से निजात

राहगीर पिछले छह माह से अधिक समय से इस समस्या से जूझ रहे हैं।

बामनवास. यहां मुख्य बाजार स्थित होली चौक पर जमा गंदगी राहगीरों के साथ दुकानदारों के लिए परेशानी का पर्याय बनी हुई है। राहगीर पिछले छह माह से अधिक समय से इस समस्या से जूझ रहे हैं। ऐसा भी नहीं है कि ग्राम पंचायत प्रशासन द्वारा सफाई नहीं कराई गई।


 पंचायत प्रशासन कई मर्तबा सफाई भी करवा चुका है, लेकिन असली संकट यह है कि नियमित सफाई की कोई व्यवस्था नहीं है और लोग रोजाना होली चौक पर घरों से लाकर कूड़ा करकट डालते हैं। इसमें भी वे कचरे को अंदर न डालकर गेट पर ही डाल देते हैं। 


सूअरों द्वारा मुंह मारने के कारण सारा कचरा फैलकर नाली में आता है।इससे नाली अवरुद्ध हो जाती है। नतीजन सारा गंदा पानी नाली की बजाय सड़क पर होकर बहता है, जिससे कीचड़ पैदा होता है। पिछले कई माह से होली चौक पर राहगीरों को कीचड़ में होकर गुजरना पड़ रहा है।


मिल सकेगी राहत

राज्य सरकार की ओर से शुरू की गई स्मार्ट विलेज योजना में उपखण्ड की दोनों ग्राम पंचायतों पट्टीकलां और पट्टीखुर्द का चयन किया गया है, जिसके तहत पंचायतों को सफाई के लिए विशेष बजट दिया जाएगा। 


प्रतिदिन सफाई कर कचरा परिवहन के लिए प्रति पंचायत पांच-पांच रिक्शे उपलब्ध कराए जाएंगे। इन रिक्शों के माध्यम से पंचायत द्वारा नियुक्त सफाई कर्मी मोहल्लों में निर्धारित स्थान से कचरा उठाकर उसे आबादी से दूर डालेंगे। 


नरेगा योजना के तहत ही प्रत्येक डेढ़ सौ घरों पर सफाई करने के लिए दो कर्मचारी लगाए जाएंगे। लेकिन फिलहाल ग्राम पंचायतों को राज्य सरकार द्वारा इस मद में कोई राशि उपलब्ध नहीं कराई गई है।


शीघ्र स्वीकृति मिलने की उम्मीद

गत दिनों जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी की ओर से इस संबंध में पंचायतों के लिए स्वीकृति जारी करने की बात कही गई थी। स्वीकृति मिलते ही सफाई की नियमित व्यवस्था शुरू करा दी जाएगी। जिससे लोगों को रास्तों में गंदगी की समस्या से निजात मिल सकेगी।


घनश्याम मीना, विकास अधिकारी, पंचायत समिति, बामनवास

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned