Children of news : सीकर में होने वाला है कुछ ऐसा, पहले कभी नहीं सुना होगा ऐसा मामला

dinesh rathore

Publish: May, 20 2017 12:28:00 (IST)

Sikar, Rajasthan, India
Children of news : सीकर में होने वाला है कुछ ऐसा, पहले कभी नहीं सुना होगा ऐसा मामला

अगले सत्र से बच्चों के साथ उनकी दादी व नानी भी सरकारी विद्यालयों में जाती नजर आएंगी। वे वहां पढऩे नहीं, बल्कि बच्चों को परम्परागत प्रेरक कहानियां बड़े चाव से सुनाएंगी।

अगले सत्र से बच्चों के साथ उनकी दादी व नानी भी सरकारी विद्यालयों में जाती नजर आएंगी। वे वहां पढऩे नहीं, बल्कि बच्चों को परम्परागत प्रेरक कहानियां बड़े चाव से सुनाएंगी। इसके लिए हर माह के दूसरे शनिवार का दिन तय किया गया है। माध्यमिक शिक्षा के निदेशक ने इस संबंध में सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया है। निर्देश में बताया है कि पूर्व के वर्षों में यह देखा जाता था कि बालक-बालिकाओं में अपनी दादी-नानी से कहानियां सुनने की स्वाभाविक प्रवृत्ति होती है। परिवार में दादी-नानी एवं अन्य बुजुर्ग बच्चों को बड़े चाव से पारम्परिक मूल्यों से संबंधित कहानियां सुनाते रहे हैं। कहानी सुनने व सुनाने की परम्परा पीढ़ी दर पीढ़ी भारतीय परिवारों में चली आ रही है। यह कहानियां बच्चों के मनोरंजन के साथ उन्हें संस्कारित भी करती है। इसके अलावा प्राचीन भारतीय मूल्यों के प्रति बच्चों के बाल मन में श्रद्धा भी पैदा करती है। 







Read:

छात्रों से जुड़ी खबर, सीएस व बीकॉम की परीक्षा बनी इनके गले की फांस, हजारों छात्रों पर छाया संकट



बना रहे कार्ययोजना...


बच्चों को प्रेरक कहानियां सुनाना अच्छी पहल है।  कार्ययोजना तैयार करवाई जा रही है। -पवन शर्मा, अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी 







Read:

विज्ञान में चमके सीकर के ये सितारे, कॉमर्स में फिसले, आप भी जानें होनहारों का परिणाम


संस्था प्रधान करेंगे अनुरोध...


प्रत्येक द्वितीय शनिवार को होने वाली बाल सभा में संस्था प्रधान स्कूल में पढऩे वाले बच्चों की दादी-नानी या किसी अन्य महिला को बुलाएंगे। वह बच्चों को परम्परागत, प्रेरक व मनोरंजक कहानियां सुनाएंगी। इसके लिए निदेशक ने सभी डीईओ को निर्देश दिए हैं कि वे व्यक्तिगत रूचि लेकर इसके लिए सभी संस्था प्रधानों को पाबंद करें।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned