गोपाल मंदिर के आधिपत्य को लेकर संतों में विवाद

dinesh rathore

Publish: Jun, 14 2017 02:24:00 (IST)

Sikar, Rajasthan, India
गोपाल मंदिर के आधिपत्य को लेकर संतों में विवाद

कस्बे के गोपाल मंदिर में गत कई दिनों से महंत रसिकशरण महाराज व सलेमाबाद पीठ से निष्कासित संत रिछपालदास महाराज का मंदिर में आधिपत्य को लेकर चल रहा विवाद रुकने का नाम नहीं ले रहा है।

कस्बे के गोपाल मंदिर में गत कई दिनों से महंत रसिकशरण महाराज व सलेमाबाद पीठ से निष्कासित संत रिछपालदास महाराज का मंदिर में आधिपत्य को लेकर चल रहा विवाद रुकने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार देर रात सरपंच बीरबल काजला की अध्यक्षता में ग्रामीणों की बैठक आयोजित हुई जिसमें सैकडों ग्रामीणों मंदिर के आधिपत्य को लेकर चर्चा की। एक पक्ष पूर्व पीठाधीश्वर श्रीजी महाराज के द्वारा चादरपोशी से गोपाल मंदिर की गद्दी पर आसीन महंत रसिकशरण महाराज को ही मंदिर की बागडौर सौंपने के पक्ष में अपनी सहमति जताई तो दूसरी ओर सलेमाबाद पीठ से निष्कासित संत रिछपालदास को मंदिर की बागडोर सौंपने के पक्ष में है। जिसको लेकर मंगलवार देर रात करीब पांच घंटे तक गहन विचार मंथन हुआ। एक बारगी तो दोनों पक्ष आमने सामने भी हो गए। इस बीच भाजपा नेता सुभाष मिठारवाल ने उपस्थित लोगों को शांत कर रसिकशरण महाराज को ही मंदिर की बागडौर सौंपने पर निर्णय हुआ। इसकी सूचना सलेमाबाद पीठ को दी गई, तो वहां के पीठाधीश्वर युवराज ने बुधवार को पीठ से संतों का प्रतिनिधिमण्डल गोपाल मंदिर भेजकर मामले का निपटारा करवाने की बात कही। इस अवसर पर पूर्व सरपंच महावीरप्रसाद शर्मा, मालीराम महरिया, गोपाल कुड़ी, जेपी गजराज, भोमाराम ऐचरा, श्यामलाल सैनी, बाबूलाल लालाका, रामनिवास बढाढरा, दिनेश लालका, अर्जुनलाल धायल, पंडित सुभाषचन्द जोशी, मुकेश कुड़ी, श्योपाल चाहर, मदनलाल गुर्जर, कैलाशचन्द काजला, गणपतराम मिठारवाल, दीपाराम गजराज, शंकरलाल चाहर, गिरधारीलाल बाजिया, कैदारमल गर्ग, सत्यनारायण गोयल, बनवारीलाल स्वामी, मांगीलाल कुमावत, राजेन्द्र पुजारी, गोपाल रोज, मदनलाल काजला, रविकुमार बबूला, बाबूलाल कुमावत,छाजूराम गजराज, गिरधारीलाल भास्कर, कमलेश गजराज सहित सैकड़ों लोग उपस्थित थे। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned