मरीजों के इलाज के लिए लगाएं गए चिकित्सक कर रहे है यह काम, आपको भी नहीं होगा यकीन...

Sikar, Rajasthan, India
मरीजों के इलाज के लिए लगाएं गए चिकित्सक कर रहे है यह काम, आपको भी नहीं होगा यकीन...

जनाना अस्पताल में मरीजों के इलाज के लिए लगाए गए चिकित्सक खुद पीजी कोर्स कर रहे है। विभाग के अभी तक किसी तरह की व्यवस्था नहीं करने से सेवाएं प्रभावित रहती है।

जिले के नवनिर्मित जनाना अस्पताल में मरीजों के इलाज के लिए लगाए गए चिकित्सकों को मरीजों के दर्द से ज्यादा पीजी कोर्स का आकर्षण दिख रहा है। यही कारण है कि जिले में जगह-जगह नियुक्त 10 चिकित्सकों में से 7 ने पीजी कोर्स ज्वाइन किया है। ऐसे में जनाना चिकित्सालयों में चिकित्सकों का टोटा हो चुका है। विभाग के अभी तक किसी तरह के इंतजाम नहीं किए जाने से सेवाएं प्रभावित हो चली हैं।


दिनरात ड्यूटी की मजबूरी


अस्पताल में लगाए गए कई डाक्टरों का चयन पीजी कोर्स में हो जाने के कारण उन्होंने ड्यूटी ज्वाइन नहीं की है। वर्तमान में अस्पताल में दो एमबीबीएस सहित आठ गायनिक के विशेषज्ञ अपनी सेवाएं दे रहे हैं। लेकिन, इनका कहना है कि स्टाफ की कमी होने के कारण समस्या आ रही है। कमी के चलते शाम और रात में अस्पताल में एक ही डाक्टर मौजूद रहता है। अस्पताल के पीएमओ डा. बीएल राड़ के अनुसार अस्पताल में अभी तक 38 से ज्यादा सीजेरियन ऑपरेशन करवाए जा चुके हैं। चिकित्सकों को दिनरात ड्यूटी संभालनी पड़ रही है।


बढ़े पलंग    


जानकारी के अनुसार सौ बेड के  जनाना अस्पताल में महिला मरीजों की संख्या बढ़कर सवा सौ के करीब हो गई है। व्यवस्था जुटाने के लिए एसके अस्पताल से 50 के करीब और बेड भिजवाए गए हैं। ताकि गर्भवती महिला व प्रसूताओं को फर्श के बजाय बेड पर लिटाया जा सके।    


बताएंगे समस्या


एसके अस्पताल के डिप्टी कंट्रोलर डा. हरि सिंह ने बताया कि डाक्टरों की कमी के लिए सीएमएचओ को लिखा जाएगा। ताकि उपचार के लिए किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं हो। व्यवस्था के लिए एसके अस्पताल से अतिरिक्त बेड भिजवाए गए हैं। सीएमएचओ डा. विष्णु मीना का दावा है कि मांग पर डाक्टरों की व्यवस्था जिलेभर से कर दी जाएगी।

Read: 

स्कूल ग्राउंड को नरेगा की संजीवनी, पढ़े सिर्फ आपके काम की खबर..

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned