अब चोटी कटने के बाद आया नया मामला, घरों में छप रहे है मेहंदी लगे हाथ, आप भी चौंक जाएंगे जब जानेंगे इस खबर में...

dinesh rathore

Publish: Jul, 14 2017 10:58:00 (IST)

Sikar, Rajasthan, India
अब चोटी कटने के बाद आया नया मामला, घरों में छप रहे है मेहंदी लगे हाथ, आप भी चौंक जाएंगे जब जानेंगे इस खबर में...

जिले में चोटी काटने की घटनाओं ने एक नए अंधविश्वास को जन्म दे दिया है। महिलाओं ने अपने घर के बाहर द्वार पर मेहंदी लगे हाथ के छापे लगाना शुरू कर दिया है।

जिले में चोटी काटने की घटनाओं ने एक नए अंधविश्वास को जन्म दे दिया है। महिलाओं ने अपने घर के बाहर द्वार पर मेहंदी लगे हाथ के छापे लगाना शुरू कर दिया है। ताकि उनकी मान्यता के अनुसार घर में किसी जादू टोने का असर नहीं पड़े और घर की महिला की चोटी काटने की अनहोनी से उनका परिवार बच सके। 

पिछले सप्ताह भर से जिलेभर में घर बैठी व सोती महिला की चोटी के बाल काटने के मामले सामने आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि चोटी काटने के बाद संबंधित महिला बेहोश हो जाती है और पता नहीं चल पाता है कि आखिर चोटी के बाल किसने काटे हैं। कुछ मामलों में तो परिजनों ने पीडि़त महिलाओं को अस्पताल तक में भर्ती कराया है। अकेले एसके अस्पताल में एेसी दर्जनभर महिलाओं को उपचार के लिए लाया जा चुका है। इधर, शहर की कई बुजुर्ग महिलाओं का कहना है कि यदि घर के द्वार पर मेहंदी लगे हाथ की छाप हो तो बुरी शक्तियां उस घर के आस-पास भी नहीं भटकती है। जगदंबा कॉलोनी, न्यू इंदिरा कॉलोनी, आनंद नगर, पिपराली रोड, सालासर बस स्टेंड, जयपुर रोड, चिडि़या टीबा व सैनी नगर सहित शहर के कई एेसे इलाके हैं, जहां कई घरों के द्वार पर ये मेहंदी लगे हाथ चर्चा का विषय बने हुए हैं। हालांकि कई इन घटनाओं के पीछे जादू टोने की आशंका जता रहे हैं। 





Read also:

सीकर: अब बाल कटने की खबर की होगी पुलिस जांच, अगर मामला निकला झूठा तो होगा केस दर्ज...






तनाव मुख्य कारण


एसके अस्पताल के वरिष्ठ मनोरोग विशेषज्ञ डा. विक्रम बगडि़या के अनुसार अफवाह के कारण भय का माहौल बनने से कभी-कभार दिमाग में तनाव की स्थिति बन जाती है। एेसी स्थिति में कई बार कमजोर दिल की महिलाओं में दिमाग में सूनापन आ जाता है। सूनेपन के इस दौर में इन महिलाओं को खुद का पता नहीं रहता है कि वे क्या कर रही हैं और अपने बाल काट लेना या शरीर को चोट पहुंचाना जैसी घटनाएं कर बैठती हैं। हालांकि इसका असर ज्यादा देर नहीं रहता। जब उन्हें होश आता है तो अपनी हरकतें छुपाने के लिए वे बोल देती हैं कि कोई बाल काट के ले गया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned