अब बच्चों के लिए घर-घर पहुंचेंगे ओआरएस पैकेट

Sikar, Rajasthan, India
अब बच्चों के लिए घर-घर पहुंचेंगे ओआरएस पैकेट

गर्मी के दिनों में छोटे बच्चों को दस्त के कारण अकाल होने वाली इन मौतों को रोकने के लिए घर घर ओआरएस पैकेट भिजवाया जाएगा।

तेज गर्मी व मानसून के मौसम में हर साल देशभर में करीब सवा लाख बच्चों की दस्त से मौत हो जाती है। विशेषज्ञों का मानना है कि दस्त के कारण अकाल होने वाली इन मौतों को आसानी से रोका जा सकता है। बशर्ते बच्चे को पर्याप्त पोषण मिले और समय पर ओआरएस का घोल या जिंक की गोली उपलब्ध करा दी जाए।

दस्त से होने वाली मौतों को रोकने के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग सोमवार से 24 जून तक गहन दस्त नियंत्रण पखवाडे़ की शुरुआत करेगा। इसके तहत पांच वर्ष तक के बच्चों वाले हर घर में ओआरएस के पैकेट भिजवाया जाएगा। चिकित्सा संस्थानों पर ओआरएस व जिंक कार्नर बनाकर घोल तैयार करने व उपयोग के तरीके बताए जाएंगे। 

पीएचसी, सीएचसी पर मौजूद है दवा: जिला औषधि भंडार के प्रभारी डा. अशोक महरिया के अनुसार ओआरएस का घोल व जिंक टेबलेट हर पीएचसी, सीएचसी पर उपलब्ध करा दी गई है। मांग के साथ और व्यवस्था कर दी जाएगी। आशा पैकेट प्राप्त कर घर-घर भिजवाएंगी।



Read:

#PATRIKA IMPACT: अब मेडिकल कॉलेज का सपना होगा पूरा, निर्माण के लिए मिले इतने करोड़ रुपए...



डिस्पेंसरी से होगी शुरुआत


जिला मुख्यालय पर गहन दस्त नियंत्रण पखवाडे़ की शुरुआत सुबह 10 बजे एक नंबर डिस्पेंसरी पर होगी। यहां शहर विधायक रतन जलधारी व चिकित्सा विभाग के अधिकारी बच्चों को ओआरएस का घोल पिलाएंगे।


प्रदेश में 12 हजार से अधिक मौत


आरसीएचओ निर्मल सिंह ने बताया कि आंकडों के अनुसार दस्त के कारण देश में एक लाख 20 हजार व प्रदेश में 12 हजार बच्चों की मौत हो जाती है। जिले में मासूमों की मौत को कम करने के लिए दो हजार से अधिक आशा सहयोगिनयों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। वे घर-घर जाकर ओआरएस का घोल बांटेंगी। साथ में अभिभावकों को साफ पानी पीने, हाथों को साबुन और साफ पानी से धोने, स्वच्छता, टीकाकरण, स्तनपान व पोषण आदि की जानकारी देंगी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned