आपको भी देनी है द्वितीय श्रेणी शिक्षक भर्ती की परीक्षा तो ये खबर बढ़ा सकती है आपकी परेशानी

dinesh rathore

Publish: Apr, 14 2017 08:09:00 (IST)

Sikar, Rajasthan, India
आपको भी देनी है द्वितीय श्रेणी शिक्षक भर्ती की परीक्षा तो ये खबर बढ़ा सकती है आपकी परेशानी

द्वितीय श्रेणी शिक्षक भर्ती परीक्षा को पारदर्शी बनाने के लिए राजस्थान लोक सेवा आयोग की एच्छिक विषय की परीक्षा को ऑनलाइन मोड में कराने का निर्णय अभ्यर्थियों के लिए बोझ से कम नहीं दिख रहा है।

द्वितीय श्रेणी शिक्षक भर्ती परीक्षा को पारदर्शी बनाने के लिए राजस्थान लोक सेवा आयोग की एच्छिक विषय की परीक्षा को ऑनलाइन मोड में कराने का निर्णय अभ्यर्थियों के लिए बोझ से कम नहीं दिख रहा है। अभ्यर्थियों का कहना है कि ऐन वक्त पर ऐसा करने से उनकी मुश्किल बढ़ जाएगी। अब उन्हें परीक्षा की तैयारी के साथ कम्प्यूटर स्किल्स भी सीखने होंगे। हालांकि तैयारी के लिए अतिरिक्त समय मिलने से वे खुश भी हैं। 26 अप्रेल 2017 व 1 मई को सामान्य ज्ञान की परीक्षा दो चरणों में ली जाएगी। इस बार आयोग विषयवार परीक्षा दो समूह में लेगा। जिन अभ्यर्थियों के विषय अलग-अलग समूह में हैं तो उन्हें सामान्य ज्ञान की दोनों परीक्षाओं में बैठना होगा। लेकिन अगर किसी अभ्यर्थी ने एक ही विषय समूह के लिए आवेदन किया है तो उसे एक ही बार सामान्य ज्ञान की परीक्षा देनी होगी। प्रथम प्रश्न-पत्र (सामान्य ज्ञान) की परीक्षा 26 अप्रेल व 1 मई 2017 को होगी। पूर्व में निर्धारित एेच्छिक विषय की परीक्षाएं स्थगित कर दी गई है। अब यह परीक्षाएं जून माह में ऑनलाइन होंगी। परीक्षा कार्यक्रम बाद में तय किया जाएगा। गौरतलब है कि सीकर जिले में करीब पचास हजार विद्यार्थी परीक्षा में शामिल होंगे। 




Read:

युवाओं के सपने से खेलने वाले नेताओं का 'इकबाल कठघरे मेंÓ! 


ऐसे करें तैयारी


अनेक वेबसाइट ऑनलाइन टेस्ट का आयोजन करवाती है। विद्यार्थियों को ऐसे टेस्ट देने चाहिए। इससे दो फायदे हैं। एक तो कम्प्यूटर पर अभ्यास बढ़ेगा, दूसरा विषय की तैयारी भी होगी। जो कम्प्यूटर में दक्ष हैं उनको समय कम मिलेगा। विद्यार्थी सवाल का जवाब बदल सकते हैं,जबकि ऑफलाइन परीक्षा में गोले करने के बाद उनको बदलना मुश्किल हो जाता था। 

रूपाराम सेन, एक्सपर्ट




Read:

02 हजार बच्चे रोज पढ़ते हैं हनुमान चालीसा


तैयारी का ज्यादा समय मिलेगा


परीक्षा का समय जून तक बढऩे से तैयारी का ज्यादा समय मिलेगा। ऑनलाइन परीक्षा करने से परीक्षा में ज्यादा पारदर्शिता आएगी। जिनको कम्प्यूटर पहले से आता है उन्हें कोई परेशानी नहीं आएगी। समय कम लगेगा। सवाल का जवाब बदलने का मौका भी रहेगा। 

सोनिका शर्मा,अभ्यर्थी


बढ़ेगा मानसिक दबाव

पहले जीके व  विषय की ही तैयारी करनी पड़ रही थी,अब कम्प्यूटर की तैयारी भी करनी पड़ेगी। एनवक्त पर ऐसा नहीं करना चाहिए। इससे विद्यार्थियों पर दबाव ज्यादा बढ़ा है। अभ्यर्थियों को अब ऑनलाइन परीक्षा देने का अभ्यास करना पड़ेगा। इससे मूल विषय की तैयारी प्रभावित होगी। 

सरिता जेवलिया, अभ्यर्थी


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned