फिर भिड़े दो गुट, इन्हें कहा कुछ ऐसा कि चलने लगे लात-घूंसे

vishwanath saini

Publish: Dec, 01 2016 07:43:00 (IST)

Sikar, Rajasthan, India
फिर भिड़े दो गुट, इन्हें कहा कुछ ऐसा कि चलने लगे लात-घूंसे

अखंड एबीवीपी के कानाराम जाट व राजू गुर्जर का आरोप है कि व्याख्याताओं की मांग को लेकर कार्यकर्ता धरने पर बैठे थे। इसी दौरान कुछ छात्राओं ने उन्हें कॉलेज के भीतर बाहरी लड़कों द्वारा उन पर फब्तियां कसने की बात कही।

एसके कॉलेज में बुधवार को एबीवीपी और एबीवीपी (अखंड) कार्यकर्ता बुधवार को भिड़ गए। दोनों गुटों के बीच जमकर लात- घूंसे चले। हमले के लिए कुर्सी तक उठा ली गई। बीच बचाव करने आए कॉलेज स्टाफ व पुलिस तक से छात्र उलझ गए। हालांकि पुलिस ने दोनों गुटों को खदेड़ मामले को शांत करा दिया। झगड़े में छात्रसंघ अध्यक्ष मयंक सैनी भी शामिल रहा। अखंड एबीवीपी के कानाराम जाट व राजू गुर्जर का आरोप है कि व्याख्याताओं की मांग को लेकर कार्यकर्ता धरने पर बैठे थे। इसी दौरान कुछ छात्राओं ने उन्हें कॉलेज के भीतर बाहरी लड़कों द्वारा उन पर फब्तियां कसने की बात कही। मौेके पर पहुंचने पर छात्रसंघ अध्यक्ष मयंक सैनी कुछ साथियों के साथ बैठा था। मामले में बातचीत करने पर  वे झगड़े पर उतारु हो गए। जबकि, मयंक सैनी का आरोप है कि अखंड एबीवीपी कार्यकर्ता कई दिनों से उनसे उलझने की कोशिश कर रहे थे। बुधवार को शराब के नशे में उन्होंने उस पर हमला करने की कोशिश की। झगड़े की सूचना पर सीओ सिटी सुरेंद्र शर्मा भी पुलिस जाब्ते के साथ पहुंचे। जिन्होंने भी दोनों गुटों से समझाइश की।
धरना उठाया, तो दिखाई परमिशन
छात्रों के विवाद को देख सिओ सिटी ने कॉलेज के बाहर चल रहे एसएफआई व अखंड एबीवीपी का धरना भी उठाना चाहा। लेकिन, दोनों ने धरने की अनुमति होने की बात कह हटने से इन्कार कर दिया। इस पर उनसे अनुमति पत्र मांगा गया, तो उसे भी दिखा दिया गया। जिसके बाद पुलिस ने दोनों संगठनों के कार्यकर्ताओं से समझाइश कर एकबारगी धरना उठवा दिया। हालांकि दोनों संगठन धरना आगे भी जारी रखने की बात कह रहे हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned