आठ साल पहले झेले जख्म अभी भरे भी नहीं थे कि एक हादसे ने जख्म को फिर से हरा कर दिया...

dinesh rathore

Publish: Jul, 14 2017 03:22:00 (IST)

Sikar, Rajasthan, India
आठ साल पहले झेले जख्म अभी भरे भी नहीं थे कि एक हादसे ने जख्म को फिर से हरा कर दिया...

कस्बे के गांव रतनपुरा की बाढावाली ढाणी के दो चचेरे भाइयों की मालपुरा-केकड़ी सड़क मार्ग पर संवारिया (टोंक) के पास सड़क हादसे में मौत हो गयी।

कस्बे के गांव रतनपुरा की बाढावाली ढाणी के दो चचेरे भाइयों की मालपुरा-केकड़ी सड़क मार्ग पर संवारिया (टोंक) के पास सड़क हादसे में मौत हो गयी। मुकेश खेदड़ (28) तथा ओमप्रकाश खेदड़ (25) बुधवार रात को कार से केकड़ी से मालपुरा जा रहे थे। संवारिया के पास कार डिवाइडर से टकराकर पलट गयी जिससे कार में सवार दोनों युवकों की मौत हो गयी। पुलिस ने गुरुवार को दोनों के शवों पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया। दोपहर में परिजन शव लेकर रतनपुरा पहुंचे। शवों के घर पहुंचते ही गांव में कोहराम मच गया। परिजनों के मुताबिक दोनों युवक मालपुरा स्थित पायस दूध डेयरी के कर्मचारी थे। मुकेश डेयरी में वेटनरी चिकित्सक तथा ओमप्रकाश रूट सुपरवाजर के पद पर कार्यरत था।


पहले भी परिवार झेल चुका है जख्म


मृतक युवकों का परिवार पिछले कई सालों से मौत के जख्म झेलता रहा है । करीब आठ साल पहले युवकों का ताऊ शीवराम, ताई तथा ताऊ के बेटे के बहू की मौत हो जाने से परिवार में एक साथ तीन अर्थियां उठी थी। मृतक मुकेश व ओमप्रकाश रिश्ते में दोनों चचेरे भाई थे। मुकेश चार भाई-बहनों में सबसे बड़ा था जो बीकानेर मेडिकल कोलेज से वेटनरी में एमबीबीएस करने के बाद पायस डेयरी में वेटनरी चिकित्सक के पद पर कार्यरत था। छोटा भाई नेकीराम, बहिन मंजू व मीरा कॉलेज में पढ़ाई करते है। मुकेश के ध्रुव (5) व बेटी निशा (3) है। वहीं ओमप्रकाश अपनी बड़ी बहिन सुमित्रा का इकलौता भाई था। ओमप्रकाश के पिता कानाराम खेदड ऊंट-लड्ढा चलाकर परिवार का पेट-पालते है, लेकिन अब बेटे की मौत से घर का चिराग बुझ गया। दोनों युवकों की मौत से परिवारजनों को गहरा सदमा लगा है। 


मजदूरी कर बेटे को बनाया था डाक्टर


मृतक मुकेश शुरू से ही पढाई में होशियार था। बेटे के डाक्टर बनने की रूचि को देखते हुए के पिता भगवान सहाय ने मजदूरी से बेटे मुकेश को एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी करवाई थी। मुकेश के डाक्टर बनने के बाद परिवार की आर्थिक स्थिति में सुधार होने लगा था लेकिन अब मुकेश की मौत होने से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट गया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned