#Patrika Impact : प्याज की सरकारी खरीद के लिए जागी सरकार

Sikar, Rajasthan, India
#Patrika Impact : प्याज की सरकारी खरीद के लिए जागी सरकार

किसानों के लिए घाटे का सौदा बनी प्याज की फसल के दर्द को दो महीने बाद सरकार ने समझा है।

किसानों के लिए घाटे का सौदा बनी प्याज की फसल के दर्द को दो महीने बाद सरकार ने समझा है। राजस्थान पत्रिका के खेतीहर का दर्द अभियान के बाद  मुख्यमंत्री ने सीकर में प्याज की सरकारी खरीद शुरू करने के लिए केन्द्र सरकार  को पत्र भेजा है। यहां से स्वीकृति मिलने के बाद जिले में प्याज की खरीद शुरू हो जाएगी। सरकार कोटा में लहसुन खरीद की तर्ज पर सीकर में किसानों का प्याज खरीदने की तैयारी में है। इस मामले को लेकर जिले के किसान भी दो महीने से आंदोलनरत है। शुक्रवार को हुई किसानों की सभा में भी प्याज खरीद का मामला गूंजा। जिला कलक्टर ने किसान नेताओं को इस पत्र की जानकारी दी है। जिले में 65 हजार से ज्यादा किसान प्याज के उत्पादन पर पूरी तरह निर्भर है। इस बार जिले में प्याज की 18 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में प्याज की पैदावार हुई है। प्याज का अनुमानित उत्पादन करीब साढ़े तीन लाख मीट्रिक टन आंका गया।

लागत 9 और मिल रहे 2 से 5 रुपए

प्याज की सरकारी खरीद नहीं होने के कारण किसानों को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है। प्याज की एक बीघा में बुवाई से खुदाई तक किसान को 25 हजार रुपए तक खर्च करने पड़ते हैं। मंडी तक प्याज को लाने पर परिवहन, मजदूरी, सिंचाई सहित अन्य खर्च को जोडऩे पर प्याज के एक कट्टे पर आठ से नौ रुपए  तक की लागत आती है। लेकिन थोक मंडी  में इस बार प्याज के शुरूआती भाव दो से चार रुपए प्रति किलो तक रहे। प्याज के प्याज डेढ रुपए से पौने पांच रुपए तक ही बोले जा रहे हैं। नासिक का प्याज एक्सपोर्ट होने से देश की मंडियों में सीकर का मीठा प्याज खप जाता है। 

पत्र भेजा है..

प्याज की खरीद शुरू करने के लिए मुख्यमंत्री ने केन्द्र सरकार को पत्र भेजा है। इसकी जानकारी भी किसान नेताओं को दे दी है।

-नरेश कुमार ठकराल,  जिला कलक्टर, सीकर

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned