सड़कों पर उतरे किसान, बहा दिया इतने लीटर दूध, आप भी जाने क्या है मामला...

Sikar, Rajasthan, India
सड़कों पर उतरे किसान, बहा दिया इतने लीटर दूध, आप भी जाने क्या है मामला...

मंदसौर में चल रहे किसान आंदोलन के दौरान किसानों पर हो रहे अत्याचार के विरोध में शेखावाटी के किसानों ने हजारों लीटर दूध बहा कर विरोध जताया है।

मध्यप्रदेश में किसानों पर चलाए जा रहे दमनचक्र के विरोध की आग शेखावाटी में भी फैलने लगी है। रविवार को सीकर जिले के श्रीमाधोपुर व अजीतगढ़ क्षेत्र के सैकड़ों किसानों ने किसानों पर अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाते हुए सैकड़ों लीटर दूध सड़कों पर बहा दिया और फल व सब्जियां की आपूर्ति रोक दी। श्रीमाधोपुर क्षेत्र  के गांव घाटमदासवाली व टीकमनगर में किसान महापंचायत के तत्वावधान में किसानों ने सड़कों पर दूध बहाकर विरोध जताया। सैकड़ों किसानों ने किसान महापंचायत के प्रदेश महामंत्री सुंदरलाल भावरिया के नेतृत्व में दोनों गांवों में रैली कर गांव बंद का आव्हान किया। किसानों का कहना है कि मंदसौर में किसानों के साथ अन्याय हो रहा है । किसान आत्महत्या करने पर मजबूर हो रहे हैं। वहीं सरकार दमनकारी नीतियों से किसानों की आवाज को दबाना चाहती है । जब तक सरकार किसानों की मांगे नहीं मान लेगी तब तक किसान महापंचायत के नेतृत्व में सम्पूर्ण राजस्थान में प्रतिदिन गांव बंद रखे जाएंगे। सब्जी तथा अन्य कृषि उत्पाद व दूध विक्रय का बहिष्कार किया जाएगा। मंदसौर के किसानों के समर्थन में दोनों गांवों के 95 प्रतिशत किसानों ने दूध डेयरियों पर दूध नहीं बेचा।  भावरीयां ने बताया की हर दिन अलग-अलग गांवों मे दूध,सब्जी तथा अनाज को बाहर नहीं जाने दिया जाएगा। किसानों ने मध्यप्रदेश में पुलिस गोली से मरे किसानों को शहीद का दर्जा देते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की। इस मौके पर हनुमान सहाय,बाबूलाल स्वामी,बिरदुराम,अर्जुन लाल सामोता,कजोड़ ढ़बास, सूरजमल,बजरंग लाल गठाला,कालुराम सहित कई किसान उपस्थित थे।


ये हैं मांगे


  • -मंदसौर में किसानों के साथ हो रहे अन्याय को रोका जाए
  • -एमएस स्वामीनाथन की रिपोर्ट लागू की जाए
  • -किसानों को उपज का उचित मूल्य दिलाया जाए
  • -कर्ज माफी
  • -किसानों की निर्धारित आय तय की जाए


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned