आखिर सिरोही के किस चिकित्सक ने ऑपरेशन के बाद मांगे पांच हजार रुपए! जानने के लिए खबर पर क्लिक करें

Amar Singh

Publish: Jun, 20 2017 10:26:00 (IST)

Sirohi, Rajasthan, India
आखिर सिरोही के किस चिकित्सक ने ऑपरेशन के बाद मांगे पांच हजार रुपए! जानने के लिए खबर पर क्लिक करें

भामाशाह बीमा योजना में उपकरण और ऑपरेशन निशुल्क लेकिन यहां अस्पताल में...

 जिले के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में छोटे-मोटे ऑपरेशन के लिए चिकित्सक किस तरह रुपए की मांग करते हैं, इसका खुलासा भामाशाह कार्डधारक पीडि़त अर्जुन और उसके भाई केसाराम देवासी ने किया है। दिलचस्प बात यह है कि भामाशाह कार्ड स्वास्थ्य बीमा योजना से जुड़े परिवार को साल में तीस हजार से तीन लाख रुपए तक की जांच, ऑपरेशन, उपकरण और दवाएं सरकारी अस्पताल में निशुल्क होती हैं। बावजूद इसके कुछ चिकित्सक सरेआम उपकरण के नाम पर रुपए मांगने से परहेज नहीं कर रहे। पेश है अस्पताल में व्यवस्था की पोल खोलती रिपोर्ट:-

यह है मामला
भाटकड़ा निवासी अर्जुन देवासी को दो दिन पहले हादसे में घुटने और शरीर के अन्य हिस्सों में चोट लगी थी। सिरोही के सरकारी अस्पताल में उपचार के दौरान चिकित्सक ने छोटा ऑपरेशन जरूरी बताया।चिकित्सक के बताए अनुसार सोमवार को अर्जुन के घुटने का ऑपरेशन किया गया। इसके बाद चिकित्सक ने अर्जुन के बड़े भाई केसाराम देवासी से पांच हजार रुपए मांगे और उसे वे रुपए गोयली चौराहे स्थित उनके घर आकर देने को कहा। चिकित्सक ने एक स्लिप पर अपना नाम और मोबाइल नम्बर तक लिख कर दिए और कहा कि घर नहीं मिले तो इस पर फोन करना, मैं तुम्हें मकान का पता बता दूंगा।

दोनों के बीच ये हुई बातचीत...
डॉ. नरेन्द्रसिंह - हैलो! मैं डॉ. नरेन्द्रसिंह बात कर रहा हूं...क्या हुआ तू आया नहीं अभी तक।
केसाराम- बस सर...काम से बाहर गया था। अब रवाना हो रहा हूं
डॉ. नरेन्द्रसिंह -- तू कठै है सही बता... कठै है भइया...तू कहां तक पहुंचा अभी...
केसाराम- नहीं सर...बस पांच मिनट में आपके पास पहुुंच रहा हूं..।
डॉ. नरेन्द्रसिंह -- गोयली चौराहा पर मेरा बोर्ड लगा हुआ है। उस पर तीर का निशान लगा हुआ है, तीर के निशान के सहारे-सहारे आ जाना।
केसाराम- सर मेरे पास एक हजार रुपए कम हंै..।
डॉ. नरेन्द्रसिंह - मुझे पता था। तू नाटक करेगा। इसलिए मैं पैसे पहले जमा कराने का कह रहा था।
केसाराम- सर..व्यवस्था नहीं हो पाई। चल जाएगा क्या।
डॉ.नरेन्द्रङ्क्षसह- मुझे पता था कि बाद में तुम लोग ऐसा ही करोगे...
केसाराम- सर... हजार रुपया ही तो कम है...
डॉ. नरेन्द्रसिंह - चल ठीक है..तू है जो ले आ ...दे दे..

सामान के मांगे थे...
हां, यह सच है कि मैंने सरकारी अस्पताल में अर्जुन के घुटने का ऑपरेशन किया है। मैं ऑपरेशन के लिए जो सामान (रॉड व अन्य उपकरण) लाया था, उसके पांच हजार रुपए मांगे थे। मुझे उसने भामाशाह कार्ड के बारे में नहीं बताया। यदि जानकारी होती तो उसे रैफर करता। उसी ने कहा था कि मैं आपको घर आकर पैसे दे दूंगा।
- डॉ. नरेन्द्रसिंह,  जिलाअस्पताल, सिरोही

अर्जुन भामाशाह कार्ड धारक है तो मैं दिखवा देता हूं। उसके लिए उपकरण-ऑपरेशन  निशुल्क हैं। मैंने डॉ. नरेन्द्रसिंह से भी कहा कि यदि आप बाहर से ऐसे उपकरण मंगाते हैं तो हमें भी बताएं ताकि कार्डधारक को योजना का पूरा फायदा मिल सके।
- डॉ. दर्शन ग्रोवर, पीएमओ, राजकीय अस्पताल, सिरोही

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned