चैम्पियंस ट्रॉफी : बांग्लादेश को हरा भारत फाइनल में, अब देखेगी दुनिया पाकिस्तान के साथ महामुकाबला

Sports
चैम्पियंस ट्रॉफी : बांग्लादेश को हरा भारत फाइनल में, अब देखेगी दुनिया पाकिस्तान के साथ महामुकाबला

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने गुरुवार को एजबेस्टन मैदान पर खेले जा रहे आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी के सेमीफाइनल में बांग्लादेश के खिलाफ टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला लिया है।

दिग्गज ओपनर रोहित शर्मा ने उन्हें अगली सीरीज के लिए टीम इंडिया से बाहर किये जाने का करारा जवाब देते हुए नाबाद 123 रन ठोककर और कप्तान विराट कोहली (नाबाद 96) के साथ 178 रन की अविजित साझेदारी करते हुए गत चैंपियन भारत को बंगलादेश के खिलाफ गुरुवार को नौ विकेट की एकतरफा जीत दिलाकर आईसीसी चैंपियंस ट्राफी के फाइनल में पहुंचा दिया। 



भारत का 18 जून को होने वाले महा फाइनल में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के साथ मुकाबला होगा जिसने कल मेजबान इंग्लैंड को पहले सेमीफाइनल में करारी शिकस्त दी थी। 



भारत ने बंगलादेश को 50 ओवर में सात विकेट पर 264 रन पर रोकने के बाद रोहित के शतक, विराट के अर्धशतक और शिखर धवन की 46 रन की पारी से 40.1 ओवर में एक विकेट पर 265 रन बनाकर जबर्दस्त जीत हासिल की। 



रोहित को इंडीज दौरे के लिए आज घोषित 15 सदस्यीय भारतीय टीम से बाहर कर दिया था। लेकिन चयनकर्ताओं के इस फैसले का रोहित ने करारा जवाब देते हुए 129 गेंदों पर 15 चौकों और एक छक्के की मदद से मैच विजयी नाबाद 123 रन ठोक डाले। 



रोहित के लिए चयनकर्ताओं के फैसले से ज्यादा खुशी की बात यह रही कि उन्होंने अपने नाबाद शतक से भारत को लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंचा दिया। रोहित ने कमाल की बल्लेबाजी करते हुए अपने विश्वसनीय जोड़ीदार शिखर के साथ पहले विकेट के लिए 14.4 ओवर में 87 रन जोड़कर भारत को मजबूत आधार दिया। 



शिखर ने 34 गेंदों पर 46 रन में सात चौके और एक छक्का लगाया। शिखर इसके साथ ही चैंपियंस ट्राफी में सौरभ गांगुली (665) को पीछे छोड़कर सर्वाधिक रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज बन गए। शिखर के 680 रन हो गए हैं। 



रोहित और विराट ने दूसरे विकेट के लिए 25.3 ओवर में 178 रन की मैच विजयी अविजित साझेदारी की। लक्ष्य का पीछा करते हुए मास्टर चेजर का खिताब अपने नाम रखने वाले विराट ने 78 गेंदों पर नाबाद 96 रन की पारी में 13 चौके लगाए और इसके साथ ही वनडे में 8000 रन भी पूरे कर लिए। वह सबसे तेज 8000 रन पूरे करने वाले बल्लेबाज भी बन गए। 



भारत ने पहली बार चैंपियंस ट्राफी के सेमीफाइनल में खेल रहे बांग्लादेश का सपना पूरी तरह तोड़ दिया। अब भारत के सामने फाइनल में पाकिस्तान की चुनौती होगी। आईसीसी टूर्नामेंटों के इतिहास में यह पहला मौका होगा जब भारत और पाकिस्तान की टीमें फाइनल में आमने सामने होंगी। 



रोहित को उनके शतक के लिए मैन आफ द मैच का पुरस्कार मिला। जवाब में भारत की की तरफ से रोहित शर्मा और शिखर धवन बल्लेबाजी करने उतरे। दोनों ने जोरदार बल्लेबाजी करते हुए मैच को एकतरफा कर दिया। दोनों ने पहले विकेट के लिए 87 रन की साझोदारी की।



धवन ने 34 गेंदों पर 7 चौके और 1 छक्का लगाते हुए 46 रन की दमदार पारी खेली। मुर्तजा की गेंद पर जोरदार शॉट लगाने के चक्कर में वे कैच आउट हो गए। धवन के जाने के बाद कप्तान कोहली मैदान पर उतरे। 



बांग्लादेश की तरफ से  तमीम इकबाल और रहीम ने शानदार अर्द्धशतकीय पारी खेली। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरे बांग्लादेश की तरफ से तमीम इकबाल और सौम्या सरकार मैदान पर उतरे। भारत की तरफ से भुवनेश्वर कुमार ने सरकार को बिना खाता खोले चलता कर दिया।



सरकार के आउट होने के बाद सब्बीर रहमान बल्लेबाजी करने उतरे। उन्होंने तेजी से बल्लेबाजी करने की कोशिश की पर 21 गेंदों पर 19 रन बनाने के बाद वे भी भुवनेश्वर की गेंद पर आउट हो गए।



2 विकेट गिरने के बाद लग रहा था कि बांग्लादेश दवाब में आजाएगा पर तमीम और रहीम ने जोरदार बल्लेबाजी करते हुए टीम का स्कोर 100 के पार पहुंचा दिया। तमीम को हार्दिक पांड्या ने बोल्ड कर दिया था पर नॉबाल होने की वजह से वे बच गए।





उस समय भारतीय टीम परेशान थी। कप्तान कोहली ने गेंद केदार जाधव को दी। जाधव ने टीम को निराश ना करते हुए तमीम (70) को आउट कर दिया। उनके आउट होने के बाद बांग्लादेश के बाकी खिलाड़ी खराब खेले।



शाकिब अल हसन को जड़ेजा ने धोनी को हाथों कैच करवाया। शाकिब ने 15 रन बनाए। हुसैन 15 रन बनाकर बुमराह की गेंद पर आउट हो गए। दूसरी तरफ शानदार बल्लेबाजी कर रहे रहीम को भी 61 रनों पर जाधव ने बोल्ड कर दिया।



महमुदूल्ला को बुमराह ने बोल्ड कर टीम को 7वीं सफलता दिलवाई। महमुदूल्ला ने 21 रन बनाए। कप्तान मुर्तजा ने अंतिम के ओवरों में अच्छी बल्लेबाजी की और टीम के स्कोर को 264 तक पहुंचाया। मुर्तजा 30 रनों तथा तस्कीन अहमद 11 रनों पर नाबाद रहे।



भारत की तरफ से भुवनेश्वर कुमार, बुमराह और केदार जाधव ने 2-2 विकेट लिए। वहीं उनके साथी गेंदबाज जड़ेजा ने भी एक विकेट अपने नाम किया। टीम की तरफ से सबसे शानदार गेंदबाजी जाधव ने की। उन्होंने टीम को उस समय सफलता दिलवाई जब बांग्लादेश विशाल स्कोर की तरफ बढ़ रहा था। 



भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने गुरुवार को एजबेस्टन मैदान पर खेले जा रहे आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी के सेमीफाइनल में बांग्लादेश के खिलाफ टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला लिया है। बांग्लादेश पहली बार चैम्पियंस ट्रॉफी के सेमीफाइनल में पहंचा है, वहीं भारत इस टूर्नामेंट का मौजूदा विजेता है।



भारत ने 2002 में श्रीलंका के साथ संयुक्त रूप से इस टूर्नामेंट को जीता था। इसके अलावा, वह 2000 में फाइनल का रास्ता तय करने में सफल रहा, लेकिन जीत हासिल नहीं कर पाया।



बांग्लादेश के खिलाफ भारतीय टीम के अनुभवी बल्लेबाज युवराज सिंह अपने करियर का 300वां वनडे मैच खेल रहे हैं। इस मैच के लिए भारत और बांग्लादेश की अंतिम एकादश में कोई बदलाव नहीं हुआ है।



टीमें :


भारत : विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, रोहित शर्मा, युवराज सिंह, महेंद्र सिंह धौनी (विकेटकीपर), केदार जाधव, हार्दिक पांड्या, रवींद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह।



बांग्लादेश : मशरफे मुर्तजा (कप्तान), तमीम इकबाल, सौम्य सरकार, शब्बीर रहमान, मुश्फीकुर रहीम (विकेटकीपर), शाकिब अल हसन, महमुदुल्लाह, मोसद्दक हुसैन, रूबेल हुसैन, तस्कीन अहमद और मुस्तफीजुर रहमान। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned